साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

गीत

बीत गया है पूरा साल

Mudassir Bhat
कब तक करे अब हम मलाल बीत गया है पूरा साल, फिर शहर में न हो बवाल [...]

==* अब पीना जरुरी है *==

SHASHIKANT SHANDILE
मुझे मैख़ाना दिखा दो की अब पीना जरुरी है हुये हासिल ग़मो को अब [...]

दिया मौन का सखी जलाओगी कब तक

Dr Archana Gupta
अपने दिल के घाव छिपाओगी कब तक दिया मौन का सखी जलाओगी कब तक [...]

बेला

बसंत कुमार शर्मा
सुंदर कोमल स्वेत धवल सा, फूल रहा बगिया में बेला लू के गरम [...]

भ्रष्ट कहौ जौ उनका तौ बौराय जात हैं.

प्रदीप तिवारी 'धवल'
भ्रष्ट कहौ जौ उनका तौ बौराय जात हैं. थरिया कै अस जूँठन वै [...]

हिंदी तो है शान हमारी

Dinesh Kushbhuvanpuri
विश्व के सभी हिंदी भाषियों को समर्पित- गीत - हिंदी तो है शान [...]

गीत

DrRaghunath Mishr
कब तक गम बर्दास्त करोगे. 000 - डा०रघुनाथ मिश्र 'सहज', [...]

नवगीत

ईश्वर दयाल गोस्वामी
शिशिर अब, रोमांस नहीं , गुनगुनाती धूप में । आँख की गहराई में [...]

जग गया भारत : जितेंद्रकमल आनंद ( पोस्ट १६२)

Jitendra Anand
जग गयी भारत हमारा देश भावन। छँट गये बादल तमिस्रा के घनेरे [...]

ज़िंदग़ी सिगरेट का धुआँ (नवगीत)

ईश्वर दयाल गोस्वामी
ज़िंदग़ी सिगरेट का धुआँ । कहीं खाई, कहीं कुआँ । ज़रदे जैसी [...]

तुम भूल गईं जबसे

Pushpendra Rathore
कांटो से है अब यारी, गुलजार चुभे मुझको, तुम भूल गईं जबसे, [...]

तेरे सब गम चुरा लेंगे…………….. भी बुला लेंगे |गीत| “मनोज कुमार”

मनोज कुमार
तेरे सब गम चुरा लेंगे तेरे सब दर्द मिटा देंगे छाया तेरा नशा [...]

तुझे पाने की इच्छा में………………….. झूम जाता हूँ |गीत| “मनोज कुमार”

मनोज कुमार
तुझे पाने की इच्छा में मैं सब कुछ भूल जाता हूँ तेरे होठों की [...]

हास तुम्हारा

हेमा तिवारी भट्ट
खिलखिलाती धूप सा है, हास तुम्हारा कुशल अहेरी अद्भुत है [...]

मेरी लाडली तेरा महकना आरज़ू मेरी

suresh sangwan
मेरी लाडली तेरा महकना आरज़ू मेरी तू जन्नत की हूर है मेरी [...]

तेरा श्रृंगार है मेरी आँखों में

Shanky Bhatia
हाँ सच है तुझे देखा तो नहीं, इक तस्वीर तेरी है आँखों [...]

तुम गर साथ होती…………

Sahib Khan
वो तन्हाई के लम्हे, वो बेखुदी की राते, यु न गुजरती, तुम गर साथ [...]

कितनी नादां है वो जो मुझे भुलाना चाहती है,

Sahib Khan
कितनी नादां है वो जो मुझे भुलाना चाहती है, कहती है......... मैं खुश [...]

मैंने तुझे भुला दिया………..

Sahib Khan
मैंने तुझे भुला दिया............... आँखों ने तेरी तस्वीर न [...]

-: आपका इंतज़ार है हमको :-

Sahib Khan
आपका इंतज़ार है हमको, आपसे प्यार है हमको, आप आयेंगे किसी रोज़ [...]

-: मेरे महबूब तुम सदा मुस्कुराना :-

Sahib Khan
मेरे महबूब मुझे न भुलाना, ख़ुशी हो या गम सदा मुस्कुराना, उस [...]

-: राज़-ए-मुश्कान :-

Sahib Khan
तुम्हारी नजरो की कसम, तुमपे फ़िदा हूँ मैं, लाख करू कोशिश विसाल [...]

-: तलाश :-

Sahib Khan
बड़ी शिद्दत से लिख रहा हूँ, तेरे इन ख्यालो को, शायद कोई जवाब [...]

यही तो इश्क़ का दस्तूर है,

Sahib Khan
मैं जनता हूँ तू मुझसे दूर है, यही तो इश्क़ का दस्तूर है, लैला [...]

“तेरे शहर में“

Sahib Khan
तेरी याद फिर खींच लाई, मुझे तेरे शहर में कैसे जिए तेरे बिना, [...]

यश के पाँवों में छाले हैं

ईश्वर दयाल गोस्वामी
जो भी घर के रखवाले है, उनके होंठों पर ताले हैं । धूल सभ्यता की [...]

एक ख्वाहिश है

Sahib Khan
एक ख्वाहिश है,,,,,,,,,,,, दिल से दिल लगाने की, आंखों से दिल में उतर [...]

दास्ताँ-ए-हिन्दुस्तान

Sahib Khan
कैसे कहें हम, दास्तान-ए-हिंदुस्तान, किसी का मर गया [...]

सीमा पर रहते हो पापा माना मुश्किल है अब आना

Dr Archana Gupta
सीमा पर रहते हो पापा माना मुश्किल है अब आना कितना याद सभी [...]

गोरे- गोरे गाल…………. तेरा होना पास मेरे |गीत| “मनोज कुमार”

मनोज कुमार
गोरे- गोरे गाल तेरे सिल्की- सिल्की बाल तेरे देता है प्यारा [...]