साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

गीत

***कान्हा के संग होली** मनाए राधा भोली***

Neeru Mohan
*मारे भर भर भर पिचकारी ओ मेरे नंदलाली चुनर मोरी लाल हुई *तू [...]

** होली है भई होली है **

भूरचन्द जयपाल
जबसे तूं हमसे ना बोली है दिल में जली इक होली है तूं माने या [...]

प्यार दिखा के गौरी तुमने

krishan saini
प्यार दिखा के गौरी तुमने शमशीर मेरे चुबो दिया… सबकुछ [...]

मुझे रंग दे तू …………………डाल के |गीत | “मनोज कुमार”

मनोज कुमार
मुझे रंग दे तू रंग दे ओ लाल क हर्बल गुलाल डाल [...]

** चेतक मेरे यार **

भूरचन्द जयपाल
चेतक मेरे यार सुन तेरे टापों की आवाज दिल मेरा इक पल डोले [...]

** इंसान हो तुम **

भूरचन्द जयपाल
प्रारम्भिक बोल ********** कश्तियां यूं ही डूबती रह [...]

** ओ मृग नयनी **

भूरचन्द जयपाल
ओ मृगनयनी तेरी आँखों को मैं क्या कहूं ओ मृग नयनी सागर सा है [...]

” गुलाल है ,धमाल है ,कहिये क्या -ख़याल है ” !!

Bhagwati prasad Vyas
रंगों की महफिल , डूबे डूबे से हैं ! सब अपने लगते , रंग अजूबे से [...]

न वो रात सवांरा करे

milan bhatnagar
न वो रात सवारा करे कोई चाँद से कह तो दे, न वो रात सवारा करे, वो [...]

जब से फागुन आया है।

मधुसूदन गौतम
जब से फागुन आया है कौन कौन बौराया है। जबसे यह फागुन आया [...]

नारी तुम अपनी पहचान करो ।

पूनम झा
नारी तुम अपनी पहचान करो । उठकर अपना सम्मान करो । अबला नहीं [...]

कोचिंग कोटा के विद्यार्थियों के मन से

मधुसूदन गौतम
* विद्यार्थी व्यथा * *******हाडौती में गीत******* अरी एरी बता, कद [...]

परदेश में नियम

मधुसूदन गौतम
परदेश में जाते हो तो इतना तो ध्यान लाना। रोकूँ न तुमे पलभर [...]

” घूंघट में अठखेली करते , प्रियतम मेरे मन भाव रे ” !!

Bhagwati prasad Vyas
जब हटा आवरण देखोगे तो , वे गाल गुलाबी होंगे ! अधरों पर लरजन [...]

चुनाव आयौ है …….

Pawan Paagal
मचे जो खूब हल्ला निकल आएें दल्ला समझ लीजै लल्ला चुनाव आयौ [...]

** होली खेलत नन्दलाल **

भूरचन्द जयपाल
. राधिका गोरी संग ब्रज की छोरी संग बनवारी बिहारी [...]

*** होली के रंग ***

भूरचन्द जयपाल
होली के रंग खेलो प्रीतम संग लाल है गुलाल [...]

🌺 ब्रज की होरी 🌺

Tejvir Singh
🌻🌼 ब्रज की होरी 🌼🌻 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 अरे कान्हा नै कर दई होरी, [...]

मशहूर हूँ

dhanraj vishwakarma
सुन के जग बालो की ,ये बातें सदा , सोचने के लिए अब में मजबूर [...]

नेता हिंदुस्तानी

Dr Archana Gupta
रीत नहीं छोड़ी है अपनी सुनो पुरानी अब भी करते रहते है वोटों की [...]

” होंसला तुमने दिया , बढ़ते रहे कदम ” !!

Bhagwati prasad Vyas
पीछे जो देखा , एहसास हो गया ! फासले हुए कम , विश्वास हो गया [...]

गीत।इक नयी पहचान दे दो ।

राम केश मिश्र
।नवगीत।इक नयी पहचान दे दो । जल रहा है बिश्व सारा क्रोध में [...]

” नज़रों को मेरी तूने , बाँध लिया है ” !!

Bhagwati prasad Vyas
टकटकी लगाए यों मैं , देखती रही ! लज़्ज़ा के आवरण , समेटती रही [...]

देखो हो रहे मुर्गें हलाल

Shayr Ranjha
घर घर में तुम जाकर देखों, दिल का बुरा है हाल... लडकी पट गयी इश्क [...]

ज्ञान नैनू पकड़, बन अमल दिव्य पथ

Brijesh Nayak
प्रेम शुभ दिव्य सत् ,स्व विचारों को मथ| ज्ञान नैैनू पकड़, बन [...]

फाल्गुन

Neelam Naveen
वो सारी वर्जनायें तोड़ कर नाचने दे झूम झूम कर आज गाने दे कोई [...]

शिवशक्ति फिर आ जाओ… हर युग की पुकार हो

लोधी डॉ. आशा 'अदिति'
तीनों लोकों के कर्ता जीवन का आधार हो शिवशक्ति फिर आ जाओ हर [...]

“आओ अधरामृत पान करें ।”

पूनम झा
मैं छल प्रपंच न जानूँ प्रिये, उर प्रीत को ही मानूँ [...]

” कटी उम्र यों ही ” !!

Bhagwati prasad Vyas
खेत, खलिहान , पगडंडियां संकरी ! घूँघट ,पनघट , हंसी रही सिकुरी [...]

II सूखी रोटी और तरकारी में II

संजय सिंह
सूखी रोटी और तरकारी में, बच्चों की किलकारी में, मिल जाएगी [...]