साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

गीत

” बन्द आँखों में , ऐसी सिमटी हया ” !!

भगवती प्रसाद व्यास
साज है , श्रृंगार है , मान है , मनुहार है ! भेद रही नज़रें जो [...]

((( एक है सूरज यहाँ…… )))

दिनेश एल०
गुलिस्तां के फूल #दिनेश एल० "जैहिंद" " हिंदू, मुस्लिम, [...]

II चांद को भी मालूम II

संजय सिंह
चांद को भी मालूम, कि चाहता, है उसे कोई चकोर l बीते तभी तो, रात [...]

कान्हा

सत्य प्रकाश
दे दो दर्शन तरस रहा, आंखों से सावन बरस रहा श्याम मेरे कब आओगे, [...]

” डूबी हूँ , तेरे ख्यालों में ” !!

भगवती प्रसाद व्यास
मुंडेरों से धूप उतरी , लहरा गई ! रुख़सार को ठंडी हवा , सिहरा गई [...]

*** दूर चले जायेंगे हम ****

भूरचन्द जयपाल
.दूर चले जाऐंगे हम दुनियां से तेरी पर प्यार तो [...]

* दिल का दर्द सुनाऐं किसको *

भूरचन्द जयपाल
दिल का दर्द सुनाऎं किसको कोई सुनने वाला नहीं । [...]

तब खुद को मैंने समझाया ।

रकमिश सुल्तानपुरी
नवगीत।तब खुद को मैंने समझाया।। यह जीवन है इक पगड़न्ड़ी काली [...]

“संघर्ष”

Prashant Sharma
संघर्ष करो संघर्ष करो संघर्ष हमारा नारा हो। जीवन पथ पर बढे [...]

” मस्तियाँ आँखों में छाई ” !!

भगवती प्रसाद व्यास
शहद धरे ,अधर तेरे , चितवन कमान ! डिम्पल गालों में छुपे , तिरछी [...]

देह कम्पित यूँ हुई मधुमास से

मधुसूदन गौतम
गण रहित 20 मात्रिक छंद ÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷÷ देह कम्पित यूँ हुई [...]

हमसफ़र

शंकर पाठक
हमें प्यार भरी बस इक नज़र चाहिये, पागल-दीवाना हमसफ़र चाहिये [...]

नकल उन्मूलन

Radhey shyam Pritam
नकल से मंजिल आसान नहीं होती। बिन पंख के जैसे उडान नहीं [...]

गीत :- मैं एक मुसाफ़िर हूं

भूरचन्द जयपाल
मैं एक मुसाफ़िर हूं दिल एक मुसाफ़िर है ना मेरी मंजिल है ना [...]

” झूंठा है , शर्माना तेरा ” !!

भगवती प्रसाद व्यास
यों गुलाब की पँखुरी सी , तुम लगी गुलबिया ! चंचल नयना करे [...]

दर्द भरा गीत

मुहम्मद आमिर क़मर सन्दीलवी
दर्द भरा नग़मा : बहुत गहरा है ये दरिया इसे तुम पार मत [...]

कान्हा की वंशी

Rita Singh
वंशी तुम्हारी प्रिय कान्हा किस्मत कैसी लायी है , बनी काठ की [...]

रमेशराज के चर्चित राष्ट्रीय बालगीत

कवि रमेशराज
बाल-गीत || हमें वतन प्राणों से प्यारा || -------------------------------------- भारत की [...]

रमेशराज के देशभक्ति के बालगीत

कवि रमेशराज
।। तिरंगा लहराए ।। ---------------------------------------- देश रहे खुशहाल, तिरंगा [...]

रमेशराज के त्योहार एवं अवसरविशेष के बालगीत

कवि रमेशराज
|| रावण || ------------------------ बीस भुजाएं, दस मुख वाला बड़ा अजब और बड़ा [...]

गीत

Radhey shyam Pritam
आ दो चार कर लें हम,प्यार की बातें। कुछ तेरी कुछ मेरी,कुछ संसार [...]

जय बोलो मतदाता की

प्रवीण श्रीवास्तव प्रसून
लोकतंत्र के अग्रपूज्य की भारत भाग्य विधाता की निर्वाचन का [...]

गीत :- दिल मेरा इक कच्चा शीशा

भूरचन्द जयपाल
4.2.17 * गीत * 9. 00 ************ दिल मेरा है इक कच्चा शीशा दिल में रहता [...]

सभी मूर्तियाँ मिटटी निर्मित या केवल पाषण हैं

Dr. Harimohan Gupt
सभी मूर्तियाँ मिटटी निर्मित या केवल पाषण हैं, मात्र भावना है [...]

स्थानीय भाषा में लोकगीत

संजय सिंह
चला चली पानी भरी आई... मटकिया अप ने उठाई l ई मटकी मां जान मेरी [...]

गीत :-सितम तुम्हारे प्यार में

भूरचन्द जयपाल
3.2.2017 ***** समय 6.50 ******************* सितम तुम्हारे प्यार में सहते रहे [...]

” ऐसी गई ठगी , कानों सुनी न – अधर धरी “

भगवती प्रसाद व्यास
एहसासों की चौखट पर , मन का नर्तन ! मधुर कल्पनाओं का नित , होता [...]

बसंती पुरवइया

dr. pratibha prakash
चली बसन्ती पुरवइया और बाग हुआ मतवाला नन्ही कपोलो से सज गया [...]

मात नमामि रेवा मैया, जग जननी कहलावत है

कृष्णकांत गुर्जर
मात नमामि रेवा मैया, जग जननी कहलावत है| माँ के चरणो मे हम [...]

हमसफ़र

rekha rani
बचा जिंदगी का जो भी सफर है इसे साथ मिलकर तय करना पड़ेगा। मेरे [...]