साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

गज़ल/गीतिका

ऑंखें

Sushant Verma
जाने क्या ये पिला गईं आँखें इक नशा सा चढ़ा गईं आँखें मौन थे वो [...]

आँखों में क्यूँ नमी रहे

Pritam Rathaur
ग़र चाँदनी खिली रहे तो दूर तीरग़ी रहे अरमान सारे ख़ाक़ [...]

फूल कलियाँ ये नाजुकी तेरी

Pritam Rathaur
बन गयी है मेरी खुशी तेरी हो चुकी है ये जिन्दगी तेरी मीठी [...]

फूस का आराम देता मेरा घर अच्छा लगा

Pritam Rathaur
साथ चलने वाला मेरा हमसफ़र अच्छा लगा राह में काँटे मिलें या [...]

अभी तो कोई पराया नज़र न आया मुझे

Pritam Rathaur
ग़ज़ल ******* किसी ने ऐसे नज़र से है गिराया मुझे कि हर घड़ी [...]

जामे-मयखाना ओ बोतल को पड़ा रहने दो

Pritam Rathaur
ग़ज़ल ******* नाम इस दिल पे तुम्हारा ही लिखा रहने दो प्यार [...]

ग्रन्थ करती निहाल है हिंदी

Pritam Rathaur
काव्य ग्रन्थों की भाल है हिन्दी कर रही ये कमाल है [...]

ऐसे बिस्तर पे मुझे रोज़ सुलाया न करो

Pritam Rathaur
ग़ज़ल ******** ज़ल्व-ए-हुस्न सरे-आम दिखाया न करो सारे ही शह्र [...]

माँ दुआओं से अपनी बचाती रहे

Pritam Rathaur
आज की हासिल ग़ज़ल ******** माँ जो औलाद पर जां लुटाती [...]

मरमरी बदन तेरा धूप में न जल जाए

Pritam Rathaur
गैर तरही ग़ज़ल ******** 212 1222 212 1222 नाज़ हुस्न पे [...]

जो शहीदों की चिताओं पे चढ़ा होता है

Pritam Rathaur
ग़ज़ल ******* उसका जीवन में नहीं कोई भला होता है जिसको [...]

ये जह्रे जुदाई पिये जा रहे हैं

Pritam Rathaur
ग़ज़ल ---------- शज़र नफ़रतों के उगे जा रहे हैं मुहब्बत दिलों [...]

अंदाज़ अपना अपना

Pritam Rathaur
हर कोई समझता है ये राज़ अपना अपना सबका ही अलहदा है अंदाज़ [...]

जैसे काँटा कोई चुभा सा है

Pritam Rathaur
आज की हासिल ग़ज़ल ---------- 2122 1212 22/112 🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷 साथ है वो [...]

हमने गुरबत में भी दम साँसो में छिपा रखा था ।

Neeru Mohan
गज़ल हमने गुरबत में भी दम साँसो में छिपा रखा था । कतरे-कतरे [...]

यूँ तो जिंदगी से मुझे शिकवे भी शिकायत भी

Neeru Mohan
यूँ तो जिंदगी से मुझे शिकवे भी शिकायत भी जाने किस मोड़ पे मिल [...]

मन की अभिलाषा

Dr. Gopal Krishna Bhatt 'Aakul'
(हिंदी पखवाड़े में हिंदी पर रचनायें) छंद- चौपाई की [...]

हिन्‍दी भाषा की बने, ऐसी अब पहचान

Dr. Gopal Krishna Bhatt 'Aakul'
(हिंदी पखवाड़े में हिंदी पर रचनायें) आधार छंद- दोहा मात्रिक [...]

शीघ्र फरमान हो

Dr. Gopal Krishna Bhatt 'Aakul'
(हिन्‍दी पखवाड़े पर हिंन्‍दी पर रचनायें) आधार छंद- वाचिक [...]

यह चमत्‍कार दिखलाओ

Dr. Gopal Krishna Bhatt 'Aakul'
(हिन्‍दी पखवाड़े में हिंदी पर रचनायें ) छंद- कुकुभ (16//14 अर्द्ध [...]

दिल का वीरां नगर

Sushant Verma
जो तुम तीरगी रहगुज़र देख लेना जला मैं मिलूँगा ठहर देख [...]

किताबी जीवन

Sushant Verma
ये जीवन किताबी जिये जा रहे हैं वरक़ रोज़ सादे जुड़े जा रहे [...]

ग़ज़ल

हेमा तिवारी भट्ट
काफ़िया-आते रदी़फ-रहे वज़्न-212 212 212 212 💐 ग़ज़ल 💐 वक्त के हाथ [...]

ग़ज़ल

हेमा तिवारी भट्ट
काफ़िया-आते रदी़फ-रहे वज़्न-212 212 212 212 💐 ग़ज़ल 💐 वक्त के हाथ [...]

रात भर याद तेरी सताती रही!

Kumar Thakur
रात भर याद तेरी सताती रही! ===================== रात भर याद तेरी सताती [...]

जुदाई

लक्ष्मी सिंह
🌹🌹🌹ललित छंद🌹🌹🌹 जुदाई, ये जुदाई सहना, मुश्किल है [...]

सिमटी ख्वाईश

Sushant Verma
क्या कमी बोलो ज़िन्दगी की है ख़ुद बुने जाल में ये उलझी है छोड़ [...]

Kokila Agarwal
२१२२--१२१२--२२ आ रहा है कोई पास दिल के भी आ रहा है कोई ख्वाब [...]

—-

Kokila Agarwal
इक सिवा सांस के क्या बाकी है ज़िंदगी अब भी क्यूं सताती [...]

हिन्दी के हित मान चाहिए

surenderpal vaidya
गीतिका * हर भारतवासी के मन में हिन्दी के हित मान चाहिए। [...]