साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

गज़ल/गीतिका

गजल : तुम मिले जो…………..👌👌👌

Radhey shyam Pritam
तेरी मोहब्बत के हम, गुलाम हो गए हैं। दिल के तमाम तुझे, सलाम हो [...]

गजल : वो लोग…………..👌👌👌

Radhey shyam Pritam
मेरी शख्सियत की शिनाख्त करते हैं जो लोग। मेरी जिन्दगी की [...]

रमेशराज की गीतिका छंद में ग़ज़लें

कवि रमेशराज
--------------------------------------------------------- || गीतिका छंद में ग़ज़ल || उर्दू में इसकी [...]

रमेशराज की तीन ग़ज़लें

कवि रमेशराज
|| ग़ज़ल ||--1 घनी उदासी अपने पास बुझी नहीं अधरों की प्यास। भले न [...]

ग़ज़ल

कवि रमेशराज
उधर अगर लब पर मुस्कान इधर बसा अन्दर तूफान। मीत मोम-सा, अजब [...]

रमेशराज की कहमुकरी संरचना में 10 ग़ज़लें

कवि रमेशराज
कहमुकरी संरचना में ग़ज़ल ---1 ------------------------------------------ प्यारा उसे लगे [...]

कतराने लगे है लोग

डी. के. निवातिया
कतराने लगे है लोग अब तो किसी को पानी पिलाने से भी कतराने [...]

इरादे मजबूत रखना

डी. के. निवातिया
इरादे मजबूत रखना *** नफरत करनी है अगर हमसे तो इरादे मजबूत [...]

ग़ज़ल

Suyash Sahu
कोई साज़ है न सुरूर है ये सज़ा किसे मंज़ूर है कुछ पास है कुछ [...]

एक से हम हो गए

ashok ashq
बाँहो में तेरे मचल कर एक से हम हो गए ख्वाब में तेरे उतरकर एक [...]

गजल : ये क्या हो रहा है…….👌👌👌

Radhey shyam Pritam
कोई हँस रहा है,कोई रो रहा है। तृप्त कोई नहीं,ये क्या हो रहा [...]

💐💐आखिरी चाहत गजल💐💐

Santosh Barmaiya
जीने की मेरी औ आखिरी चाहत गजल। जान भी निकले यहाँ, बस लिखते [...]

💐💐क्या मेरा है मुकद्दर💐💐

Santosh Barmaiya
तू अपनों के साथ है, ये तेरा है मुकद्दर। मैं अपनों में पराया, [...]

तेरी अंखियन ने मुझको मारा मेरी साॅसाे का है सहारा

bharat gehlot
तेरी अंखियन ने मुझके को मारा मेरी सॉसाे का है सहारा , तुझे [...]

शहीदों को नमन

Pritam Rathaur
वज्न-👇 1222-1222-1222-1222 अर्कान- मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन मुफ़ाईलुन [...]

़आग दरिया में भी लगा देना

Dr.rajni Agrawal
ग़ज़ल बहर २१२२ १२१२ २२ काफ़िया- आ रदीफ़- देना ख्वाब आए नहीं [...]

सुकमा के नक्सली हमलों में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि

Pritam Rathaur
ग़ज़ल @@@@ जो फ़नां हो गये देश पर हैं जवां पल रहे कोख में [...]

लिपट गेशुओं से गुजारा करेंगे

ashok ashq
तुम्हें हम कभी भी न रुस्वा करेंगे सुबह शाम तेरा ही सजदा [...]

ग़ज़ल

Suyash Sahu
कितना प्यारा मंज़र है मैं हूँ , चाक समंदर है आँखों से वो [...]

ग़ज़ल

Suyash Sahu
कोई एक नहीं सारा निज़ाम है सवालों में वफ़ा खड़ी है बरहना अवाम के [...]

ग़ज़ल

Suyash Sahu
चलो आज हम कुछ ऐसा करते हैं हाथ उनको दें जो यूँ ही डरते हैं [...]

मे तेरे प्यार मे तन्हा पागल फिरता हूँ

कृष्णकांत गुर्जर
मे तेरे प्यार मे तन्हा पागल फिरता हूँ तेरे प्यार का जाम पीके [...]

गजल : परिवर्तन की गुंजाइस…….👌👌👌

Radhey shyam Pritam
हर तरफ नफरतों की शम्मा जल रही है। स्वार्थे-बुद्धी इंसान की [...]

दामन क्यों महकता है??

Dr.rajni Agrawal
बरसते हुस्न से पूछो दिवाना क्यों मचलता है। छलकते जाम से पूछो [...]

जो अगर जां-ब-लब नहीं आती

भारद्वाज भारद्वाज
जो अगर जां ब-लब नहीं आती यूँ ग़ज़ल ता-ब-लब नहीं आती वो कभी [...]

** गजल **

पूनम झा
चलो प्रकृति के नजदीक चल के देखते हैं। सुबह के सुहाने मौसम [...]

गजल

sunny gupta
🌿🌿🌿गजल🌿🌿🌿 कभी दिल करे पास आया करो। अपने नाचीज को आजमाया [...]

गजल : ओ बहना मेरी…….👌👌👌

Radhey shyam Pritam
ओ बहना खुश रहना मिले न गम। छू ले ऊँचाई न रहे किसी से [...]

टूट कर शाख से गिरा कैसे

ashok ashq
बात दिल की न कर हज़ारों से ये जहाँ है भरी दिले बीमारों से चाह [...]

तुम हो

Hardeep Bhardwaj
क़ज़ा भी तुम हो हयात भी तुम हो डायरी के पन्नों पर उतरे लफ्ज़ भी [...]