साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

गज़ल/गीतिका

ग़ज़ल

भूरचन्द जयपाल
अब कुछ तो रखो ख्याल-ए-उम्र शाम-ए-जिंदगी ढलती जा रही है [...]

बिना मेहनत के नहीं मिलता कोई फल यारों

सुरेश कुमार 'सौरभ'
धरती खोदोगे तब मिलेगा तुम्हें जल यारों। बिना मेहनत के नहीं [...]

II….जो गाते रहे हैं….II

संजय सिंह
गमों को छुपा के जो गाते रहे हैंl अकेले में आंसू बहाते रहे हैं [...]

II कुछ आरजू ज्यादा न थी…II

संजय सिंह
कुछ आरजू ज्यादा न थी ए जिंदगी तुझसे मेरी l फिर भी शिकायत कुछ [...]

जटाधारी शिव जी

बसंत कुमार शर्मा
बड़े भोले'-भाले, जटाधारी’ शिव जी पियें विष के' प्याले, [...]

कथनी के वीर हों न, कर्मवीर चाहिए

सुरेश कुमार 'सौरभ'
कथनी के वीर हों न, कर्मवीर चाहिए । हर ओर अब सुधार की तस्वीर [...]

आँसू

बसंत कुमार शर्मा
पीर तेरी और मेरी सह गए अनमोल आँसू आँख में बस कैद होकर रह गए [...]

गजल : दिल जलता है धुआँ उठता नहीं

Radhey shyam Pritam
आज दिल मेरा कहीं भी लगता नहीं। तेरी यादों में उलझा है निकलता [...]

II राह में था काफिला….II

संजय सिंह
राह में था काफिला भी खो गया l मंजिलों का आसरा भी खो गया ll वह न [...]

II..आशिकी के सामने…II

संजय सिंह
कब चला है बस किसी का आशिकी के सामने l दो जहां की क्या खुशी तेरी [...]

इश्क की महिमा

शंकर पाठक
तेरी बेवफाई से भी हमने इतना प्यार किया है, तुमने पत्थर भी [...]

ओज वाणी लिखूँ

Dinesh Kushbhuvanpuri
देश के नाम अपनी जवानी लिखूँ। वीरता की जहाँ में निशानी [...]

II आईने को सामने रखना जरूरी है II

संजय सिंह
क्या लिखूं कैसे लिखूं लिखना जरूरी हैl आईने को सामने रखना [...]

आदमी तो आदमी है सिर्फ आदमी

sunil soni
हर वक्त हर रोज परेशां है आदमी कहीँ उनसे कही खुद से परेशां है [...]

बकलोल

milan bhatnagar
"बकलोल" खून के रिश्ते बहुत अनमोल होते हैं सियासत में यहाँ पे [...]

दिल जलाना ……

Vivek Tiwari
आपको याद करना दिल जलाना हो गया इस समंदर से गुजरना डूब जाना हो [...]

हर एक समस्या हल होगी

बसंत कुमार शर्मा
आज न हो पाई, कल होगी हर एक समस्या हल होगी नम होंगे जब तेरे [...]

हुस्न की बिजलियाँ

Govind Kurmi
गिराकर वर्क हुस्न की वो यूँ ही निकल गई भरी वज्म आशिकों की उन [...]

के टूटकर बिखरे हम यहाँ उसी के लिए

बबीता अग्रवाल #कँवल
चला गया वो हमें छोड़ कर किसी के लिए के टूट कर बिखरे हम यहाँ [...]

ग़ज़ल(आजकल)

kamni Gupta
आजकल कुछ ऐसा दस्तूर हो गया है। पैसा ही सब का जी हुजूर हो गया [...]

प्यार करें

Lokesh Nashine
कड़ी है धूप चलो छाँव तले प्यार करें जहाँ ठहर के वक़्त आँख मले [...]

हर लम्हा खास है

rekha rani
मेरे दोस्त ज़िंदगी का हर लम्हा खास है। तू हर पल इस तरह जी बस [...]

जुल्म की इन्तहा

DESH RAJ
“ जुल्म की इन्तहा ” करके “ जहाँ ” में वो वफ़ा की उम्मीद करते , [...]

~~~कड़वा सच~ ~~

अजीत कुमार तलवार
सही कहा है या गलत कह दिया ये फ़ैसला अब खुद आपको करना है !! कि [...]

चाँद अब रोशनी नहीं देता

sunil soni
चाँद अब रौशनी नहीं देता अब तो एक आग सी निकलती है । देख लो आके [...]

इतना न करो कातिल सुन्दर सी निगाहो मे

कृष्णकांत गुर्जर
फूलो सा बदन उनका,काँटे हैजवानो मे इतना करो कातिल,सुंदर सी [...]

मगर हार मैंने भी मानी नहीं है

बसंत कुमार शर्मा
नहीं आज बचपन जवानी नहीं है मगर खत्म अपनी कहानी नहीं है मुझे [...]

गुज़र गया वक्त (ग़ज़ल)

sudha bhardwaj
ग़ज़ल गुजर गया वक्त यूंही याद में रोते रोते। थी आरज़ू खुशी [...]

II दिमागों में गुरूर देखा है….. II

संजय सिंह
दिमागों में गुरूर देखा है l सलीके में शुरूर देखा है ll भरी [...]

__तेरी तस्वीर पर मेरा ख्याल__

अजीत कुमार तलवार
अपनी खूबसूरत तस्वीर पर न नाज कर मेरे प्यारे यह तो फनाह है, [...]