साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: ज़ैद बलियावी

ज़ैद बलियावी
Posts 17
Total Views 1,981
नाम :- ज़ैद बलियावी पता :- ग्राम- बिठुआ, पोस्ट- बेल्थरा रोड, ज़िला- बलिया (उत्तर प्रदेश). लेखन :- ग़ज़ल, कविता , शायरी, गीत! शिक्षण:- एम.काम.

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

“शब्द माँ”

बड़ा मुख़्तसर स शब्द है "माँ", जो गहराइयो मे उतरा तो आँखे खुल [...]

“मेरे पिता”

होश हम अपने खोने लगे थे, सोच कर ये रोने लगे थे! थामकर उंगलिया [...]

“मैं तो बस किसान हूँ साहब”

न हिन्दू न मुसलमान हूँ साहब, मैं तो बस किसान हूँ साहब.! खेत [...]

“पुरानी डायरी”

एक पुरानी डायरी मे, मुझको तेरा पता मिला.., कुछ पुरानी यादे [...]

“मेरी माँ”

मेरी ज़िन्दगी मेरी माँ.. मेरी हर खुशी मेरी माँ.., जो बचपन मे [...]

“आक्रोश”

इस तरह से ग़मो मे, डूबा हूँ मैं! जैसे दुनिया के हर शख्स [...]

एक जवान की पीढ़ा

काटा जो सर दुश्मन ने, तो जीते थे हम शान से,, अपनो से जो सिला [...]

“गाँव चले हम”

चलो चले हम, गाँव चले हम! आओ चले हम, गाँव चले हम! ये झुटी [...]

“स्कूल के दिन”

बीते दिनों को सोचकर, हम पछताने लगे,, जब याद मुझे अपने, गुज़रे [...]

“उनकी यादे”

भूलती नही जिनकी यादे, काश! मुझे ढूँढ़ती उनकी आँखे,, मैं हर [...]

“गाँव की यादे”

बैलगाड़ी की सवारी याद आती है, मुझको गाँव की कहानी याद आती [...]

“तुम” – एक गज़ल

मेरी सुबह हो तुम, मेरी शाम हो तुम! हर ग़ज़ल की मेरे, नई राग़ हो [...]

ये गन्दी राजनीति

ये झूटे वादे रहने दो, ये झूटी वर्दी रहने दो,, हम आंसू पीकर भी [...]

“ये मायूसी”

मेरे चेहरे की मायूसी, हरदम यही बताती है। जब भी तन्हा होता हूँ [...]

किसानो की आवाज़

न चाहते हूए भी ऐसी बात लिख रहा हु, दर्द मे डूबकर जज़्बात लिख [...]

“बेटी”

((((((( बेटी ))))))) --------------------------------- जब शाम को घर को आऊ, वो दौड़ी-दौड़ी [...]

माँ

(((((( माँ )))))) ________________________ जब बिन बोले माँ से, कही देर तलक रह जाते [...]