साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Vivek Chauhan

Vivek Chauhan
Posts 5
Total Views 132
बाजपुर उत्तराखंड का निवासी हूँ काव्य जगत का नवीन तारा हूँ समस्त विधायें लिखता हूँ किन्तु भाव अनुरूप जब जैसे आ जाये l छोटी सी उम्र में छोटी सी कलम लेकर काव्य पथ पर चल रहा हूँ

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

दश हरा

ख्वाब को बिस्तर से उठा कर के सो जाओ नेता को भी आँख दिखा कर के [...]

पिक्चर का आज टेलर दिखा दिया है मोदी जी

पिक्चर का आज टेलर दिखा दिया है मोदी जी दुश्मन को भी मजा आज [...]

दो मुक्तक—–

जुल्फ में तेरी उलझते जा रहा हूँ रात - दिन नाम तेरा लिख के [...]

पाकिस्तान की आतंकवादी लंका जला दो मोदी जी

पाकिस्तान की आतंकवादी लंका जला दो मोदी जी कराँची के सीने [...]

कश्मीर मुकुट भारत माँ का

कश्मीर मुकुट भारत का माँ अंधेरों में दीया बाती दिल्ली भारत [...]