साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Vinod Kumar

Vinod Kumar
Posts 5
Total Views 101
पता परिचय |नाम- विनोद कुमार ग्राम- नोहरी का पूरा चायल कौशाम्बी (उ.प्र.) | शिक्षा - बी.ए.फस्ट इयर | हिन्दी उर्दू गज़ल, गीत छंद कविता भी लिखना | काव्योदय के दोनो साझा संकलन में मेरी दो गज़ल प्रकाशित हो चुकी है

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

“मोहन से मिलने को आयी राधा मोहिनी”

"मनहरण घनाछरी छंद" काजल लगा के चक्षु,शशि रुप धरे हुये, मोहन [...]

फ़लक से चाँद किसी दिन जमीं पे लायेंगे

"गज़ल" मतला- जरा सा सब्र करो हम हुनर दिखायेंगे। फलक से चाँद [...]

जीत कहानी है ये हार कहानी है

"गज़ल" जीत कहानी है ये हार कहानी है। कुछ स्याही है,बाकी तो सब [...]

आँखो में चाँदनी है चेहरे पे सादगी है

मतला- आँखो में चाँदनी है चहरे पे सादगी है। तितली हवा नदी जैसी [...]

दोहा

लालच की होती नहीं,जग में कोई थाह। जो इसमें जितना गया,उतना हुआ [...]