साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Vandaana Goyal

Vandaana Goyal
Posts 16
Total Views 2,692
बंदना मोदी गोयल प्रकाशित उपन्यास हिमखंड छठा पूत सांझा काव्य संग्रह,कथा संग्रह राष्टीय पञ पत्रिकाओं में कविता कथा कहानी लेखों प्रकाशन मंच पर काव्य प्रस्तुति निवास फरीदाबाद

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

महिला दिवस पर विशेष कविता

___ मनभावन कुछ भी नहीं, जो मिला वही संजोया मैंने आंँसू अंतर्मन [...]

गजल

गजल कौन यादों में यूँ बसी सी है क्यों निगाहों में खलबली सी [...]

गजल

आप सबकी मोहब्बतों के हवाले दिल खोलकर समीक्षा [...]

उस घर की बेटी

उस घर की बेटी उस घर में मां नहीं है पर---------- उस घर की बेटी मां [...]

ख्वाबों को पलने दो

published in buisness sandesh august edition ख्बाबों को पलने दो...... वंदना गोयल क्या [...]

गजल

बहर १२२२ १२२२ १२२२ १२२२ काफिया ई रदीफ मालूम होती है गजल नदी [...]

मुक्तक

गुजरे वक्त के साये जब कदमों से लिपट जाते है यादों के कितने [...]

कहां गया वो वक्त

कहाॅ खो गया वो वक्त... जब खुषियों की कीमत माॅ के चेहरे से लग [...]

खुबसूरत हाईकु

💐💐💐💐💐💐जय माँ शारदे💐💐💐💐💐💐 -------------------------------------------------------------------- [...]

गजल

१२२२/१२२२/१२२२/१२२२ काफिया आम रदीफ होते हैं मतला वही अक्सर [...]

एक स्वप्न सलोना

इक स्वपन सिलौना...... वो स्वपन सिलौना दिल का खिलौना मोम की [...]

स्मृतियां

स्मृतियाॅ लेने लगी हैं आकार मूरतों का स्मृतियाॅ वो....जो बह [...]

खत के जवाब में

खत के जबाब में..... पूछा था मैंने हालचाल इस ख्याल से चेहरा हसीं [...]

शेर

हो मेरी आदतों में' शामिल तेरी" कोइ आदत दूँ' मैं भी मुस्करा कभी [...]

शेर

हो मेरी आदतों में' शामिल तेरी" कोइ आदत दूँ' मैं भी मुस्करा कभी [...]

गजल

गजल बहर १२२२/१२२२/१२२२/१२२२ काफिया आ रदीफ नही होता मतला खबर [...]