साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Tejvir Singh

Tejvir Singh
Posts 28
Total Views 159

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

🌞भगवान परशुराम🌞

🌺🌻🌼मनहरण घनाक्षरी🌼🌻🌺 🌹🌼🌻🌹🌼🌻🌹🌼🌻🌹 मिलते हैं *कभी-कभी* [...]

शब्द-विद्रोह-सुकमा नक्सली हमला…..

👉सुकमा (छत्तीसगढ़) में नक्सलवादियों द्वारा किये गए हमले में [...]

🙏🙏 गौ वंदन 🙏🙏

वन्दे गौ मातरम्!!! 🐄🐄🐄🐄🐄🐄🐄🐄 "शंकर और विष्णु बसत जाके [...]

🌹बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ🌹

🌺🌼 जलहरण घनाक्षरी 🌼🌺 🌺🌼🌻🌺🌼🌻🌺🌼🌻🌺 *बेटियां बचाओ* और [...]

माँ-बाप

🌼 मुक्तक 🌼 🌹🌻🌼🌺🌻🌼🌺🌻🌼🌹 *तमन्ना* के भंवर में हर कोई गोते [...]

मैं मिलन गीत लिख-लिख के गाता रहा…

🌹विधा - गीत 🌺 विषय - मिलन 🌹 🌻लय - [...]

गीत-मोहक छवि के दरश को मोहन…

🌹विधा - गीत 🌹 🌼 तर्ज - तुम्हारी नजरों में हमने [...]

पत्थरबाजों की शामत…..

🌺🌻🌼 मनहरण घनाक्षरी 🌼🌻🌺 शिल्प - 8-8-8-7 🌻🌼🌹🌻🌼🌹🌻🌼🌹🌻 सेना [...]

सेना का गौरव…..

👉घाटी की विषम परिस्थिति तथा सैनिकों के अपमान का विरोध करती [...]

क़तरा-क़तरा लहू…..

🇮🇳🙏 सैनिकों के सम्मान को समर्पित रचना [...]

हास्य व्यंग्य

😁😁 हास्य व्यंग्य 😁😁 विधा-गीत लय-स्वतन्त्र 🌻विषय - ये है [...]

जान को मेरी….

🌺🌻🌹 ग़ज़ल 🌹🌻🌺 बह्र - 212 - 212 - 212 - 212 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 जान को मेरी अब [...]

ग़ज़ल

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 दुश्मनी भी न हम से निभाई गई। ये नज़र जब नज़र से [...]

शहीद दिवस

🙏 अमर शहीदों को शत्-शत् नमन् [...]

प्रीत का रंग भरो सजनी…..

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 गए बीत दिवस जाने कितने,जाने कितनी बीतीं [...]

जल ही कल है

'जल' जीवन है 'जीवन-जल',कह दिया कहने वालों ने। जीवन को महफूज रखा [...]

मातृभूमि वन्दन

🌻 विश्व कविता दिवस पर *मातृभूमि [...]

मातृभूमि वन्दन

🌻 विश्व कविता दिवस पर *मातृभूमि [...]

मेरा हमदम आज…..

🌹🌻 ग़ज़ल 🌻🌹 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 मेरा हमदम आज मुझको वो निशानी दे [...]

🌺 ब्रज की होरी 🌺

🌻🌼 ब्रज की होरी 🌼🌻 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 अरे कान्हा नै कर दई होरी, [...]

🌻 बेटी 🌻

🌺🌺 मुक्तक 🌺🌺 शर्त लगी थी एक शब्द में, लिखनी हैं जग की [...]

हक़

🌻🌷 हक़ 🌷🌻 🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹 हक़ मांगने गए तो बड़े शोर हो [...]

हाइकू

हुरियार हायकू.... 🌺🌻💐🌹🌷🌺🌻💐🌹🌷 ब्रज की होरी बचै ना कोई [...]

दो मुक्तक

जन्मों-जनम् का प्यासा मुझको भी प्यार देदे। हो जाऊँ तृप्त ऐसी [...]

बांच लो पाती नयन की…..

बिन तुम्हारे जो गुजारी, रैन 'बेचारी' विरहन की। शब्द वर्णन को [...]

मशविरा है मिरा…..

🌹🍍🌹🍍 ग़ज़ल 🍍🌹🍍🌹 बह्र - 212-212-212-212 (फायलुन फायलुन फायलुन [...]

बेटियाँ

बेटा यदि घर-बार है,तो संसार बेटियाँ। मानव जनम में ईश का अवतार [...]