साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Sureshpal Jasala

Sureshpal Jasala
Posts 18
Total Views 405
I am a teacher, poet n writer, published 8 books , started a new Hindi poem method called " Varn piramid or jasala piramid." I have membership n hold posts in many societies. Also Awarded by many societies.

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

***द्विपदी ***

(१) जिन्दादिली के साथ जीना ही जिन्दगी है , वरना मुर्दों की कमी [...]

*****दोहे*****

(१) धरम करम के सार को, रहे कृष्ण जी सींच । राजनीतिक के व्याल को, [...]

***** एक मुक्तक : श्रृंगारिक दर्शन *****

***** एक मुक्तक : श्रृंगारिक दर्शन ***** एक तरफ तो अर्द्ध नग्नता थी, [...]

**** नमन करगिल के वीरों को *****

**** नमन करगिल के वीरों को ***** करगिल के वीर जवानें का , दिल से [...]

***** मुक्तक : फाँसी दो *****

***** मुक्तक : फाँसी दो ***** जो पाकिस्तान से हमदर्दी रखते ,,,,,उनको तो [...]

***** “काश्मीर की कली” की घाटी *****

***** काश्मीर की कली की घाटी ***** अलगाववादियों के सँग में, जो आतँकी [...]

*** मुक्तक : धारा परिवर्तन माँग रही ***

*** मुक्तक : धारा परिवर्तन माँग रही *** आतंकी जब भी मरते हैं, घाटी [...]

*** मुक्तक : क्यूँ आतंकी प्यारे लगते ***

** मुक्तक : क्यूँ आतंकी प्यारे लगते ** क्यूँ आतंकी प्यारे लगते [...]

** नव मुक्तक **

***** मुक्तक ***** हम धर्म के मर्म को जानें, नफरत की पीडा को [...]

वर्ण पिरामिड और सिंहावलोकनी दोहा मुक्तक

सुरेशपाल वर्मा जसाला यह मेरी नवविधा है - ''वर्ण [...]

मात्राभार गणना ( विस्तृत )

मात्राभार गणना ( विस्तृत ) ********************* मात्रा आधारित छंदमय [...]

**** मुक्तक ****

**** मुक्तक **** माँ की कृपा की छाया बस , सबके ऊपर बनी रहे ; मधुर [...]

***हम तो कबूतर शांति पथ के***

***हम तो कबूतर शांति पथ के*** [मुहावरों का [...]

नवविधा – ”वर्ण पिरामिड’

((((((****यह मेरी नवविधा है - ''वर्ण पिरामिड''****))))) [इसमे प्रथम पंक्ति [...]

गीतिका = रोना आता है

गीतिका = रोना आता है मात्राभार= 24 प्रति पंक्ति समान्त =आ / [...]

**** भीषण गर्मी ****

**** भीषण गर्मी **** यूँ गर्मी का रंग चढ़ा ,उल्का सी पड़ी है आँगन में [...]

———मानवता का दीप ——–

---------मानवता का दीप -------- उगते सूरज का मैं मन से ,अति अभिनन्दन [...]

*******वीर जवानों की गाथायें *******

*******वीर जवानों की गाथायें ******* वीर जवानों की गाथायें,तुमको आज [...]