साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: sunil soni

sunil soni
Posts 12
Total Views 1,214
जिला नरसिहपुर मध्यप्रदेश के चीचली कस्बे के निवासी नजदीकी ग्राम chhenaakachhaar में शासकीय स्कूल में aadyapak के पद पर कार्यरत । मोबाइल ~9981272637

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

वन्दे मातरम् का गीत सुबह और शाम जो गाये

कश्मीर में सेनिको से दुर्व्यहार करने वाले गद्दारों को सबक [...]

दामिनी का दम जो निकला

जितना दम उतना लड़े फिर हार मानी चल पड़े । दामिनी का दम जो [...]

हे !राम सच्चिदानंद

हे सीतानाथ कौशल्यानंद दशरथ के प्राण करुणा निधान । लक्ष्मण [...]

क्यों आरजू है चाँद से

दुनियां में ऎसे लोग बहुत मिल ही जायेंगे । सीखा था जिनने हमसे [...]

बीते हुये युगों से कुछ यादें साथ ले लें ।

बीते हुए युगों से कुछ यादें साथ ले लें । बन जाये एक तराना वो [...]

माँ आदिशक्ति

आदिशक्ति जगजननी ज्वाला रूपी जगदम्बे । कष्ट मिटा दो तिमिर [...]

तेरा नाम छा जाये

जुबां पे तेरा ही बस तेरा नाम छा जाये । हसरत-ए-जिंदगी अब तो [...]

तराना

भूल सकते है नही कोई तराना आपका । दर्दे गम की दास्तां है हर [...]

चले पिचकारी प्रेम रंग की

चले पिचकारी प्रेमरंग की समता रूपी उड़े गुलाल । बैर भाव तज [...]

तबाही का मंजर

हैराँ है धरती परेशां है अम्बर बतला रहा है तबाही का मंजर [...]

आदमी तो आदमी है सिर्फ आदमी

हर वक्त हर रोज परेशां है आदमी कहीँ उनसे कही खुद से परेशां है [...]

चाँद अब रोशनी नहीं देता

चाँद अब रौशनी नहीं देता अब तो एक आग सी निकलती है । देख लो आके [...]