साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: sunil soni

sunil soni
Posts 6
Total Views 647
जिला नरसिहपुर मध्यप्रदेश के चीचली कस्बे के निवासी नजदीकी ग्राम chhenaakachhaar में शासकीय स्कूल में aadyapak के पद पर कार्यरत । मोबाइल ~9981272637

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

तेरा नाम छा जाये

जुबां पे तेरा ही बस तेरा नाम छा जाये । हसरत-ए-जिंदगी अब तो [...]

तराना

भूल सकते है नही कोई तराना आपका । दर्दे गम की दास्तां है हर [...]

चले पिचकारी प्रेम रंग की

चले पिचकारी प्रेमरंग की समता रूपी उड़े गुलाल । बैर भाव तज [...]

तबाही का मंजर

हैराँ है धरती परेशां है अम्बर बतला रहा है तबाही का मंजर [...]

आदमी तो आदमी है सिर्फ आदमी

हर वक्त हर रोज परेशां है आदमी कहीँ उनसे कही खुद से परेशां है [...]

चाँद अब रोशनी नहीं देता

चाँद अब रौशनी नहीं देता अब तो एक आग सी निकलती है । देख लो आके [...]