साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: sudha bhardwaj

sudha bhardwaj
Posts 52
Total Views 642

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

लगता है सब ग़मो….

ग़ज़ल लगता है सब ग़मो कि यूंही शाम हो गईं। हमें सता उम्र [...]

मुक्तक (आज फिर…)

मुक्तक आज एक बार फिर से हुई ऑखें नम है। हम कैसे कहे क्या [...]

चलो आज चाल…(ग़ज़ल)

ग़ज़ल चलो आज चाल तुम्हारी ही चल के देखते है। तुम्हारी तरह [...]

पुराने शहरो के….

फिलबदीह से हासिल ग़ज़ल पुराने शहरो के मंजर निकलने लगते [...]

दोहे (सूरज से……

दिनांक-१६/४/२०१७ दोहा छन्द सूरज से जिवन खिलै-मिलै असिम [...]

होगी रहमत कभी…..(ग़ज़ल)

रदीफ-आते काफिया-रहो ग़ज़ल होगी रहमत कभी तो अर्जियां [...]

ग़ज़ल (जिन्दग़ी भी खूब है……)

रदीफ़-आरो काफिया-की तरह जिन्दग़ी भी खूब है खिलें ग़ुलजारो [...]

महारथी धनुर्धरा

महारथी धनुर्धरा ************* नन्ही कली जब-जब चली। रख पॉव हस्त कर [...]

हमराही

हमराही मैं तेरी तू मेरा जीवन भर का संग है। तू मेरी मैं तेरी [...]

आत्मा

आत्मा अपनी आत्मा या रूह को हम उस वक्त अपने पास महसूस कर सकते [...]

होली

होली रास रंग का पर्व है आया। आओ मिल-जुल खेले होली। स्वागत [...]

सबला

सबला कौन कहता है नारी अबला। पल-भर में टाले यें हर बला। [...]

फागुन

विषय-फागुन तिथि-९-३-२०१७ सखी ! फागुन मास है आयो री। संग मधुर [...]

ग़ज़ल (लाइफ से क्वीट)

ग़ज़ल लाइफ से क्वीट भी किया जा सकता है। पर अब यह मेरे लिए [...]

ग़ज़ल (चल रही…..

ग़ज़ल चल रही फिर से सुरभित। वही चंचल पवन सुहानी है जिसकी [...]

ग़ज़ल (सिंधड़ी सी ….

ग़ज़ल सिंधड़ी सी यादें धुँधला सा आइना। लौं अब भी दरमियां [...]

मुक्तक

मुक्तक जिएं साथ जीवन एक सादा करते है हम आज यें वादा। एक हो [...]

अभिलाषा

यह उस बेटी की अभिलाषा है जो अभी अजन्मा है माँ की कोख़ मे ही है [...]

जय भोलेनाथ

जय भोलेनाथ --------------------- निशदिन मन लागे तुझ शरणम्। तुझ दर्शन बिन [...]

पथ/राह

पथ/राह पवन बुहारे पथ तेरा तू चल चला चल। मान ले सुरभित [...]

गुज़र गया वक्त (ग़ज़ल)

ग़ज़ल गुजर गया वक्त यूंही याद में रोते रोते। थी आरज़ू खुशी [...]

हम फ़ना हो गये….

ग़ज़ल हम फ़ना हो गयें देखते देखते। कट गई उम्र यूंही देखते [...]

सरिता

सरिता हिम शिखर से निकल राह मेरी बड़ी कठिन विकल चलूं मै [...]

तर्जनी (ग़ज़ल )गीतिका

तर्जनी मेरी तर्जनी ने जिन्दगी की तर्ज़ सी बिगाड़ दी। हर [...]

ज़िन्दगी दर्द की….(ग़ज़ल)

ग़ज़ल ---------- ज़िन्दगी दर्द की कहानी है। यें दुनिया यही रह जानी [...]

ज़िन्दगी दर्द की….(ग़ज़ल)

ग़ज़ल ---------- ज़िन्दगी दर्द की कहानी है। यें दुनिया यही रह जानी [...]

सीख

सीख: झुकी फलो की डाली ने सिखाया। तुझमे इतना गुरूर कहाँ से [...]

अहंकार

अहंकार ------------- अहम का विकार जब जब किसी में आ गया। न चाहते हुए [...]

अहंकार

अहंकार ------------- अहम का विकार जब जब किसी में आ गया। न चाहते हुए [...]

दूरियां (मुक्तक)

मुक्तक तुमसे मिले बिना यें मेरी जिन्दगी अधूरी है। मिल नही [...]