साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: SUDESH KUMAR MEHAR

SUDESH KUMAR MEHAR
Posts 14
Total Views 353
ग़ज़ल, गीत, नज़्म, दोहे, कविता, कहानी, लेख,गीतिका लेखन. प्रकाशन‌‌--१. भूल ज़ाना तुझे आसान तो नही २--- सुनिक्षा [ग़ज़ल संग्रह ]

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

मैं जब रोता हूँ तनहा सा लिपटकर शब के सीने से

मैं जब रोता हूँ तनहा सा लिपटकर शब के सीने से . बिखरने लगते हैं [...]

उरी तो टीसेगी

मुदद्तों कहीं गहरी ये उरी तो टीसेगी| पीठ पर चली है जो वो छुरी [...]

आँखें ही अब बोलती, आँखें ही अब कान……….

उसने ही सब दिया , ये तन मन ये प्राण. उसकी खातिर मिट चलूँ, छोडूं [...]

मेरा ख्याल तेरी छत पे बिखरने वाला है….

मुझे भुला के कहाँ तू भी बचने वाला है, मेरा ख़याल तेरी छत पे [...]

मुझे ज़िन्दगी तुम पढाते रहोगे…..

नज़र मुझसे यूँ ही मिलाते रहोगे, मुझे ज़िन्दगी तुम पढाते [...]

जिंदगी आपकी हंसी सी है…

फूल,तितली,कली,परी सी है. ज़िन्दगी,आपकी हंसी सी है. इस कदर यूँ [...]

प्रीत में तुम सखी —-

प्रीत में तुम सखे स्वस्तिक हो गए ये जहाँ गौण तुम प्राथमिक हो [...]

होते हैं इश्क में अब देखो कमाल क्या क्या..

होते हैं इश्क में अब देखो कमाल क्या क्या. मेरे ज़बाब क्या क्या [...]

मुझे मालूम होता …

मुझे मालूम गर होता बसर का।। कभी रुख भी नहीं करता शहर [...]

प्यार भी मानसून हो जाए —-

प्यार भी मानसून हो जाये. फरबरी बाद जून हो जाये. तुमको चाहूँ [...]

तुम्हारी बेटियां है …

हमें भी खिलखिलाने दो ज़रा सा मुस्कुराने दो. तुम्हारी बेटियां [...]

बहुत खुद्दादार है वो….

बहुत खुद्दार है घुटनों के बल चलकर नहीं आता. वो लिखता है बहुत [...]

हमें धोखा हुआ तितली के पर का……..

लड़कपन की हसीं दिलकश डगर का। हमारा प्यार था पहली नज़र का [...]

उधार नही उतरा है—

किताबो मे कभी करार नही उतरा है। जुनू था सर पे सवार, नही उतरा [...]