साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Santosh Khanna

Santosh Khanna
Posts 10
Total Views 172
Poet, story,novel and drama writer Editor-in-Chief, 'Mahila Vidhi Bharati' a bilingual (Hindi -English)quarterly law journal

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

पहचान

अपने से पहचान कर लो । अपने से पहचान कर लो क्या किया जीवन में [...]

यमुना, एक मरन्नासन नदी

यमुना , एक मरनासन्न नदी कहां हो तुम कृष्ण? गाए चराते [...]

चिड़िया

चिडिया उड़ती चिडिया गाती चिडिया मन को बहुत लुभाती [...]

गज़ल

कौन है जो बादलों की ओट से मुस्काता रहा कर के ईशारे रोशनी के [...]

आईना

आईना कहीं नहीं हूँ मैं अपनी कविता में नहीं है मेरा कोई [...]

अहं

अहं जब जब सोचा पा ली है विजय मैंने अपने अहं पर पता नहीं [...]

बेटियां

जब से बता दिया है उसे नही है भेद लड़का हो या लड़की वह चहकने लगी [...]

बेटियां

जब से बता दिया है उसे नही है भेद लड़का हो या लड़की वह चहकने लगी [...]

वर्षा में नदी

सुस्त-सी पड़ गई नदी अचानक उठ खड़ी होती है वर्षा में वर्षा में [...]

चाह

वंदना कविता बन अम्बर-सी फैल जाऊं शून्य सभी स्वयं में [...]