साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: पं.संजीव शुक्ल "सचिन"

पं.संजीव शुक्ल
Posts 53
Total Views 283
मैं पश्चिमी चम्पारण से हूँ, ग्राम+पो.-मुसहरवा (बिहार) वर्तमान समय में दिल्ली में एक प्राईवेट सेक्टर में कार्यरत हूँ। लेखन कला मेरा जूनून है।

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

रिश्ते

किसी ने पूछा हमसे एक सवाल, क्यों करते उन्हें तुम इतना याद जो [...]

सावन

आया सावन बदरा बरसे सजन मिलन को सजनी तरसे, झींगुर मेढक करते [...]

पैसे की माया

पैसा कितना महत्वपूर्ण है कैसे यह समझाऊँ रिश्तों पे प्रभाव [...]

होली है भाई होली

जमुरों की यह टोली लगती कितनी भोली देती सबको गोली होली है [...]

आरक्षण का भूत

विलुप्त होती प्रतिभा को संजीवनी पीलाओ मेधावी को उसका [...]

..मनाऊं कैसे..?

मम्मी पापा आपको अपना सीना चीर दिखाऊँ कैसे मम्मी पापा रूठ [...]

शादी

शादी के दिन चार बचे थे मन था बड़ा बेचैन, कैसे कर ये दिन [...]

****** मित्रता ******

मित्रता सदेह रुप भगवान है जो ना समझ सका वही नादान है। कष्ट [...]

मैं ईश्वर समदर्शी हूँ

गगन भी मै धरा भी मै अमृत और हवा भी मै जग का हूँ मै [...]

अधीर मन

अधीर मन यह बोल रहा अब धीर धरुं तो धरुं कैसे। यह पीडा है [...]

जिन्दगी उजड़ गई..

**^**जिन्दगी उजड़ गई**^** --------------------------------------------- जब से तुम आई प्रिय [...]

आप सा मेरा यार है..

नमस्ते जी। राधे राधे। विचारों का क्या ऐ तो आपका प्यार [...]

**बोल प्यारे बोल**

**बोल प्यारे बोल** ***************** दुराचार या आनाचार या फैला हो [...]

ग्रामपंचायती फंड

ग्राम पंचायती फंड, तेज कितना कितना मंद जनता खाये सुखी रोटी, [...]

****.भेद भाव.****

कही आरक्षण कही भेद भाव कब तक यूं ही हमें बाटोगे, इस गंधयुक्त [...]

तुम कब जागोगे प्यारे…?

मैंने पूछा ! तुम कब जागोगे प्यारे ? क्या जब मेधा मिट जायेगी [...]

मैं कौन हूँ…..?

मैं कौन हूँ ? क्या मैं इन्सान हूँ या कोई भगवान हूँ एक बहन का [...]

जिम्मेदारी किसकी….?

आज मै वसुधा जी का एक लेख पढ रहा था फेसबुक पर तभी मेरे दिमाग का [...]

…कितना आनंद अकेले में…

जब जी चाहे खुल कर हस ले रोना चाहे जी भर रोलें, भोजन मिले तो छक [...]

….आवारा….

आवारा ................. गजब का रोस था वहा की फीजा में, हर शख्स का [...]

**याद करीह हमें याद अईह बलम**

दूर जाके ना हमके भुलईह सनम याद करीह हमे याद अईह बलम। तु बीछड़ [...]

**कहीओ त होई सुख के सबेरा**

कहीयाले मन के छली ई अधेरा कहियो त होई सुख के सबेरा। नया फूल [...]

***आरक्षण के मार..कबले सहाई***

***आरक्षण के मार..कबले सहाई** (भोजपुरी कविता) समजवा मेँ कईसन ई [...]

कभी ना सताऊंगा

कभी ना सताऊंगा ०००००००००००० कवि बनने की ललक चर्राया [...]

पवित्र बनाऊं मैं.

सोचता हूँ आज - अभी, अम्बर को गले लगाऊँ मैं गगन में हैं जितने भी [...]

प्रगतिशील जीवनस्तर या नैतिक पतन

प्रगतिशील जीवनस्तर या नैतिक पतन *******†*†*****†*†******†*†******* सिकुड़ता [...]

शब्द तौल कर बोलो

प्रेमी बन प्रेमिका से बगली झाक अटालिका से लड़के ने [...]

सब कुछ बिकता है….

कोई नाम बेचता है कोई काम बेचता है यहाँ सस्ते मे कोई ईमान [...]

मैं क्या लिखूँ?

क्या लिखु जो बने कविता भ्रष्टाचार पे करे वो वार, जन- जन के [...]

परिस्थितियों से समझौता

*))))* बिवसता से समझौता*((((* ***************************** कितना बेबस था चेतन ,उसकी [...]