साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: पं.संजीव शुक्ल "सचिन"

पं.संजीव शुक्ल
Posts 103
Total Views 889
मैं पश्चिमी चम्पारण से हूँ, ग्राम+पो.-मुसहरवा (बिहार) वर्तमान समय में दिल्ली में एक प्राईवेट सेक्टर में कार्यरत हूँ। लेखन कला मेरा जूनून है।

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

भक्ति भावना

भक्ति भावना... ....................... मन तूं इतना सा एहसास रहने दे, भक्त हूँ [...]

दीन हीन बचपन

दोष क्या मेरा मुझे बतादो फलसफा भाग्य का समझादो। गलती ऐसी [...]

भ्रष्टाचार की जड़

भ्रष्टाचार की जड़....। .................................. मुझे अब तक नहीं मिला [...]

आरक्षण या विषवेल

आरक्षण ............... आज का दौर आरक्षण का दौर है जहाँ हमारी सोच भी [...]

घनाक्षरी

.....आरक्षण.... करें क्या जतन कैसे मुक्त हों आरक्षण से मेधावी के [...]

सपने ना दिखाओ

***यू सपने ना दिखाओ*** मंदिर बनाओ या न बनाओ किन्तु मेरे राम को [...]

सावधानी में सुरक्षा

☺सावधानी हटी दुर्घटना घटी☺ ........................................ खुश थे वो बच्चे [...]

पितृपक्ष पर विषेश

*दिखावा* श्राद्ध पे करते कई दिखावा मात पिता के मरने पर, पानी [...]

जीऊतपुत्रिका व्रत

💐💐💐💐💐💐माँ💐💐💐💐💐💐 माँ बच्चों के दिर्घायु को रखती है [...]

मानवता

पंक्षी कलरव करते थे निशदिन कैसे बागों में। रिश्ते भी पिरोये [...]

मकसद

कुछ भी नहीं, एक आस तो है कुछ कर गुजरने का मक्सद खास तो है, यहीं [...]

प्रार्थना

हे प्रभु मेरी खुबीयों को नहीं अपितु मेरी खामियों को मेरे [...]

हमें क्या?

अलसाई आखों से आसमान को निहारते हुये छत की मुंडेर पर बैठे- [...]

छठ पूजा

छठ पूजा एक परम्परा माने सब नर - नार अर्घ अस्तांचल सूर्य [...]

नेटवर्किंग की दुनिया

बात कम कीजै,वाट्सप चलाए रहिये फेसबुक की दुनिया में खुद को [...]

नेता जी

वादे इनके बड़े-बड़े, नारे लगते खड़े-खड़े नेता जी की बात न [...]

श्राप

किसान होना क्या पाप है? या ईश्वर का कोई श्राप हैं? आखिर है [...]

अभी आरक्षण पर क्यें करे बात….?

उम्र है अभी जवान फिर आरक्षण पे क्यों करें बात । हमें क्या पड़ी [...]

जनता और जनार्दन

जनता और जनार्दन ........................... चूनावी जंग को तैयार नेता जी निकल [...]

मैं कवि..?

संग्रह में मेरे कविताओं का अंबार है, किन्तु मैं कवि, दिल [...]

शिक्षक

💐💐💐 शिक्षक 💐💐💐 =================== शिक्षक जीवन का वह रत्न है शिक्षक, [...]

पिता

हा मैं पिता हूँ अपने बच्चों को संस्कार देना चाहता हूँ उनको [...]

अच्छे दिन

अच्छे दिन की बानगी चाहों बैंक में बाबू जाओ पांच हजार के [...]

हमारा बचपन

***हमारा बचपन*** ================ ये उन दिनों की बात है जब हम होने लगे थे [...]

कवि की नजर मेंं देश दुनिया

क्या कुछ घट रहा है दुनिया में देखता हूँ और दंग हूँ सत्य कहूं [...]

“राम” को बक्स दो

*****राम को बक्स दो******* =======++++++========= किसको दिया था नाम राम भी सोचते [...]

बाबा

बाबा बाबा करो नहीं धरो प्रभु का ध्यान, जन्म सफल हो जायेगा हरी [...]

अंधभक्ति

धर्म की परिभाषा धूलधूसरित हो गई, अंधभक्ति के सम्मुख निष्ठा [...]

कहर मत ढहाईये

अजीब आफत है जनाब कुछ तो फरमाईये इन लाचारो को देख जरा अब तो [...]

क्षणिक आपदा

बाढ़ आई है , आने दो, सुनामी थोड़ी है ये क्षणिक आपदा है , प्रलय [...]