साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Rita Yadav

Rita Yadav
Posts 37
Total Views 1,621

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

मुक्तक (2 Posts)


गुलिस्ता

गुल का गुलिस्ता से है ,.....रिश्ता ए पुराना अजीज कोई बन जाता, [...]

चाहत

चाहत न हो जब तक, यूं ही मुलाकात नहीं होती धड़कता दिल न जब तक, [...]