साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Bhupendra Rawat

Bhupendra Rawat
Posts 108
Total Views 5,544
M.a, B.ed शौकीन- लिखना, पढ़ना हर्फ़ों से खेलने की आदत हो गयी है पन्नो को जज़बातों की स्याही से रँगने की अब बगावत हो गईं है ।

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

ख़्वाबों में दुनिया अपनी, बनाए बैठे है

ख़्वाबों में दुनिया अपनी, बनाए बैठे है दिल अपना गैरो से लगाए [...]

लबों को सिना जरूरी है जाम दर्द का पीना जरूरी है

लबों को सिना जरूरी है जाम दर्द का पीना जरूरी है क्यों इतना [...]

बीते हुए पलों को याद कर मुस्कुराना ही तो ज़िन्दगी है

बीते हुए पलों को याद कर मुस्कुराना ही तो ज़िन्दगी है दुःख [...]

लोग क़रीब बुलाते है क्यों

लोग क़रीब बुलाते है क्यों क़रीब बुलाकर दूर चले जाते है [...]

जख्म आज भी ताजे हो जाते है

जख्म आज भी ताजे हो जाते है जब यादे बनकर वो पल आँखों के समक्ष [...]

ज़िंदगी भर उनकी निगाहों में रहा जैसे बहती हुई फ़िज़ाओं में रहा

ज़िंदगी भर उनकी निगाहों में रहा जैसे बहती हुई फ़िज़ाओं में [...]

लोग हमेशा सताते रहे

लोग हमेशा सताते रहे अश्क़ आँखों में आते रहे तड़पते रहे गए हम [...]

समा गयी है तू मेरे भीतर

समा गयी है तू मेरे भीतर जिस तरह नदी का पानी समा जाता है [...]

प्रक्रति ने हम सब पर उपकार किया है

प्रक्रति ने हम सब पर उपकार किया है सुंदर सा जीवन देकर हमारा [...]

प्रकति से मत करो खिलवाड़

प्रकति से मत करो खिलवाड़ प्रक्रति है हमारे जीवन का [...]

हमारा शरीर भी प्रकृति का मिश्रण है।

हमारा शरीर भी प्रकृति का मिश्रण है। वायु,अग्नि,जल [...]

थोड़ा सा सुकूँ चाहिए हर शाम के बाद.

थोड़ा सा सुकूँ चाहिए हर शाम के बाद. अब तो तू आज मेरे दबे अरमान [...]

वो मुलाकात भी मुलाकात क्या थी

वो मुलाकात भी मुलाकात क्या थी दिल में जब उसके जगह ही ना [...]

आज फिर यादों का जन्म हो गया

सारी यादों का था कत्ल हो गया आज फिर उससे मिलन हो गया गुज़रा [...]

ख़्वाबों को ही अब हम अपना बताते है

ख़्वाबों को ही अब हम अपना बताते है हकीकत में वो हमसे दूर ही [...]

दिल नदा बच्चा होता है तभी तो प्यार सच्चा होता है

दिल नदा बच्चा होता है तभी तो प्यार सच्चा होता है हो जाता है [...]

अभी चेहरे पर हिजाब रहने दो

अभी चेहरे पर हिजाब रहने दो उसे बंद किताब रहने दो सवाल है [...]

इंसानियत का हिज़ाब गायब है

इंसानियत का हिज़ाब गायब है अपनों का प्यार ग़ायब है लूट रहे है [...]

हम एक देश के वासी है ये हिन्दुस्ता हमारा है

हम एक देश के वासी है ये हिन्दुस्ता हमारा है नाजाने कितने [...]

अब तुझे दिल की बात बतानी जरूर है

अब तुझे दिल की बात बतानी जरूर है आग जो लगी है कल्ब में दिखानी [...]

ये कैसा हादसा हुआ है

ये कैसा हादसा हुआ है अब कैसा रगडा हुआ है जोड़ने की चाह थी दिल [...]

कभी धुप तो कभी छाव सी है ये ज़िन्दगी

कभी धुप तो कभी छाव सी है ये ज़िन्दगी तो कभी बहती नाव सी है ये [...]

नेता जी को चढ़ा बुखार क्यूंकि चुनाव पड़े है अबकी बार

नेता जी को चढ़ा बुखार क्यूंकि चुनाव पड़े है अबकी बार गड़े [...]

जब तू ही अंजान बन बैठी है

खुदा से शिकायत क्या करूँ अब तेरी बगावत क्या करूँ जब तू ही [...]

इश्क की गलियों में जनाब दिल सच्चा सा लगता है

कुछ कच्चा सा लगता है अभी बच्चा सा लगता है इश्क की गलियों में [...]

बदलते युग में शिक्षा के बदलते उद्देश्य और महत्व

शिक्षा एक ऐसा माध्यम है जो जीवन को एक नई विचारधारा प्रदान [...]

मैं तुम्हे नाम देती हूँ मुझे पहचान तुम देना

मैं तुम्हे नाम देती हूँ मुझे पहचान तुम देना मेरी इस [...]

अब वो यार हमारा है देखिये

अब वो यार हमारा है देखिये ऐसा प्यार हमारा है देखिए दिलकश [...]

मरहम के नाम पर जख्म देकर कहाँ चल दिये

इश्क़ फरमाकर ज़नाब कहाँ चल दिए मरहम के नाम पर ज़ख्म देकर कहाँ चल [...]

इंसानियत सबकी मर गयी जग उठा शैतान

इंसानियत सबकी मर गयी जग उठा शैतान बाबा को भगवान बना बैठे है [...]