साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Ravi Sharma

Ravi Sharma
Posts 9
Total Views 158
परिचय- आप एक लेखिका,कवयित्री एवं शिक्षिका हैं। पिछले लगभग ४४ वर्षों से आप मंच पर कवितापाठ करती आ रही हैं। आपके दो काव्य- संग्रह भी प्रकाशित हुए हैं। १. काव्य- किरण ( नव कवियों के लिए )२. काव्य- उमंग ( स्कूली बच्चों के लिए ) इसमें अनेक काव्य- विधाओं में, सरल भाषा में रचनाएँ लिखी गयीं हैं ।अक्सर प्रतिष्ठित संस्थाओं से सम्मान प्राप्ती एवं समाचार पत्रों, पत्रिकाओं, संग्रहों में रचना प्रकाशन होता है

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

मुक्तक

मुक्तक - कौन यह कहता है कि ख्वाब तो झूठे होते हैं । इनसे ही [...]

गीत

पेड़ों की छाँव तले फूलों के पास बैठूँ तो मुझे लगे आप मेरे [...]

गीत

मन की बोली मन की बोली जो कोई जाने, वो ही अपना कहलाता है। मन वो [...]

गीत

तौबा- तौबा करते- करते प्यार हो गया। आँखों ही आँखों में कब [...]

गीतिका

बेख़ौफ़ दिल की धड़कन, बेख़ौफ़ लव हमारे । हम तुम पे मर मिटे [...]

चतुष्पदी

बालों ने तेरे गालों को छुआ । काजल ने तेरी पलकों को छुआ । ये [...]

मुक्तक

दर्द के फूल पिरो कर प्रीत डोर में । टाँक यादों के मोती ओर- छोर [...]

कविता

यह कविता लगभग १९ वर्ष की आयु में, जुलाई १९७५ को ट्रैकिंग करते [...]

गीत

उलझ- उलझ कर सुलझ- सुलझ कर, फिर से उलझ जाती हूँ । तुम्हें जब उदास [...]