साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Ranjeet GHOSI

Ranjeet GHOSI
Posts 18
Total Views 66
PTI B. A. B.P.Ed. Gotegoan

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

कविता (15 Posts)


निकल न जाए दम…

दुनिया के भरे बाजार में, कहीं पीछे छूट न जाएें हम ! चलने का [...]

अपनी किस्मत….

आज मैं अपनी किस्मत को, फिर आजमाने चल पड़ा हूं !! देखना है क्या [...]

दिल जब रोता है…

दिल जब रोता है, तो खुद ही गुनगुना लिया करते हैं ! आंखों से [...]

मैंने अपनी मंजिल ना पाई…

जीवन के गुमनाम सफर में मिला न कोई सच्चा हमदम एक राह पर चलने, न [...]

तुम सब कुछ कह देना…

मिलने से जो खुशी मिली है बिछड़ने का गम कांटों चुभता है खुशी [...]

ईश्वर तेरा कैंसा जीवन.

जीवन के है रंग निराले थोडे भूरे थोडे कारे कही रंगनियत मिलती [...]

मोहबत एेसी पूजा है …

मोहबत एेसी पूजा है, मोहबत सा नहीं दूजा एे तो एेसी दौलत है, एे [...]

मोहबत एेसी पूजा है …

मोहबत एेसी पूजा है, मोहबत सा नहीं दूजा एे तो एेसी दौलत है, एे [...]

आंसू पूछें …

आंसुओं का हिसाब, कुछ मैं लगा नहीं सकता खुशी के है या गम के, कुछ [...]

कहीं मैं खुद को भूल न जाऊं..

कहीं मैं खुद को भूल न जाऊं खुद से ही अनजान हो जाऊंगा किया ना [...]

तोड़ दूं कैसे पैमाने

तोड़ दूं कैसे पैमाने, उसमें तू बसती है मैं जब चाहूं तू मिल [...]

तुमने कैसे जुदा कर देना..

उनको चुके कुछ एहसास हमे जुदा मिला थी वहीं जालिम पर अंदाज नया [...]

अकेला एहसास..

चलना अकेला ही मुझे बस यादों का साथ है तेरा कोई रास्ता दिखाई [...]

दिल के अऱमा

मेरे दिल के सारे अरमां,कविता और गजलो मे डाले कविताऔर गजलें [...]

दिल पंछी

आज दिल पंछी बन,फिर उड़ चला हवा के समंदर में डूबकियां लगा [...]