साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: ramprasad lilhare

ramprasad lilhare
Posts 42
Total Views 1,756
रामप्रसाद लिल्हारे "मीना "चिखला तहसील किरनापुर जिला बालाघाट म.प्र। हास्य व्यंग्य कवि पसंदीदा छंद -दोहा, कुण्डलियाँ सभी प्रकार की कविता, शेर, हास्य व्यंग्य लिखना पसंद वर्तमान में शास उच्च माध्यमिक विद्यालय माटे किरनापुर में शिक्षक के पद पर कार्यरत। शिक्षा एम. ए हिन्दी साहित्य नेट उत्तीर्ण हिन्दी साहित्य। डी. एड। जन्म तिथि 21-04 -1985 मेरी दो कविता "आवाज़ "और "जनाबेआली " पत्रिकाओं में प्रकाशित हुई है।

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

“सब अपने लिए फ़कत कुर्सी ढूंढते हैं “

मूफ़लिसी में भी रहबरी ढूंढते हैं। बैवकुफ़ हैं वो जो जिंदगी [...]

मोबाइल, मोहब्बत (कुण्डलियां)

"मोबाइल " मोबाइल का देख लो, कैसा चढ़ा बुखार। बच्चों पर भी हैं [...]

“बेटी “(घनाक्षरी)

"बेटी " आन बान मान बेटी, सबकी हैं शान बेटी। हर जगह बेटी का, [...]

“अभी ईमान जिंदा हैं “(मुक्तक)

"अभी ईमान जिंदा हैं " मुक्तक समान्त -आन पदान्त -जिंदा हैं [...]

राजनिती (कुण्डलियां)

राजनिती 1. गंदा हो गया देखो, राजनीति का खेल। नेता बनता हैं [...]

“अब तो यहाँ चारों ओर फ़कत पथराव दिखता हैं “

"अब तो यहाँ चारों ओर फ़कत पथराव दिखता हैं " अब तो चारों ओर बस [...]

“जख्म को हमारे न यूँ हवा दीजिए “

"जख्म को हमारे न यूँ हवा दीजिए " जख्म को हमारे न यूँ हवा [...]

“इंसान को यहाँ बाटा किसने “(कविता “)

इंसान को यहाँ बाटा किसने (कविता) फिजाओं में जहर घोला किसने। [...]

“सियासत ” मुक्तक

"सियासत "(मुक्तक " सियासत का असर देखो खान पान भी बदनाम हो गये [...]

“हिन्दू मुस्लिम के चोंचले क्यूँ हैं “(मुक्तक)

"हिन्दू मुस्लिम के चोंचले क्यूँ हैं " (मुक्तक) डगमगाये हमारे [...]

“हम पाकिस्तान मिटा देंगे “(कविता)

"हम पाकिस्तान मिटा देंगे "(कविता) देख नापाक पाकिस्तानी, हमको [...]

“सरेआम मोहब्बत हैं तुझसे मुझे “(मुक्तक)

"सरेआम मोहब्बत हैं तुझसे मुझे " (मुक्तक) बाखुदा मोहब्बत हैं [...]

“मैं शिक्षक हूँ “(गज़ल/गीतिका)

"मैं शिक्षक हूँ"(गज़ल/गीतिका) शिक्षक हूँ मैं मैं शिक्षा की [...]

“हौसलाफजाई “(मुक्तक “

"हौसलाफजाई " (मुक्तक) 1. ख्वाहिशों का पुलिंदा बाँध, डगर पर तु [...]

“तु मेरा भगवान मैं तुझको नमन करूँ “(गीत)

"तु मेरा भगवान मैं तुझको नमन करूँ "(गीत) तु हैं मेरी शान मैं [...]

“नारी की महिमा “(हाईकू 5-7-5)

"नारी की महिमा "(हाईकू 5-7-5) नारी बहुत सहनशील होती सम्मान योग्य [...]

“नारी की महिमा “(हाईकू 5-7-5)

"नारी की महिमा "(हाईकू 5-7-5) नारी बहुत सहनशील होती सम्मान योग्य [...]

मुझे वक्त दे इतना (मुक्तक)

मुझे वक्त दे इतना यूँ तो जीने की तमन्ना बहुत हैं मेरे दिल [...]

“जनाबेआली “(व्यंग्य कविता)

"जनाबेआली"(व्यंग्य कविता) अजीब सी कशमकश हैं जनाबेआली भाभी [...]

“तुझसे मिलने के बाद”(शेर-ओ-शायरी)

"तुझसे मिलने के बाद" (शेर-ओ-शायरी) तु मिली मुझसे ये खुदा का रहम [...]

“पानी की महत्ता “(दोहा छंद)

"पानी की महत्ता"(दोहा छंद) 1. पानी की हर एक बूंद, हैं जीवन आधार। [...]

“अब तो मैं…… डरता हूँ “(शेर)

"अब तो मैं.... डरता हूँ" (शेर) 1. मैं कहाँ अदावत से डरता हूँ मैं [...]

“नेता हमारे “(व्यंग्य कविता)

"नेता हमारे"(व्यंग्य कविता) ईद के चाँद होते हैं झूठ की दुकान [...]

“ग्रामीण युवा (दोहा छंद)

"ग्रामीण युवा"(दोहा " 1. तुम ही उजल भविष्य हो, तुम ही गाँव कि [...]

पहली पहली मुलाकात (कविता “

"पहली पहली मुलाकात " एक दिवस की थी वो बात उस दिन वो भी थी मेरे [...]

“ख्वाब “(प्रतीकात्मक मुक्तक)

"ख्वाब" (प्रतीकात्मक मुक्तक) रात रूपी बगीची में ख्वाब [...]

“मध्यमवर्ग :-एक प्रश्न?”(कविता “

"मध्यमवर्ग :-एक प्रश्न? " (कविता) सागर की गहराई सी [...]

“टाईमपास “(मुक्तक)

"टाईमपास " (मुक्तक " एक लड़के ने एक लड़की से कहा मैं प्यार [...]

“नारी की महत्ता “(कुण्डलियाँ छंद)

"नारी की महत्ता " (कुण्डलियाँ छंद " 1.नारी तुम ये न समझो, तुम हो [...]

वीरांगना :-अवन्ती बाई (आल्हा छंद)

"वीरांगना :-अवन्ती बाई " (आल्हा छंद 16,15 =31 मात्रा) सुनो संत जन [...]