साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: रकमिश सुल्तानपुरी

रकमिश सुल्तानपुरी
Posts 97
Total Views 1,700
रकमिश सुल्तानपुरी मैं भदैयां ,सुल्तानपुर ,उत्तर प्रदेश से हूँ । मैं ग़ज़ल लेखन के साथ साथ कविता , गीत ,नवगीत देशभक्ति गीत, फिल्मी गीत ,भोजपुरी गीत , दोहे हाइकू, पिरामिड ,कुण्डलिया,आदि पद्य की लगभग समस्त विधाएँ लिखता रहा हूं । FB-- https ://m.facebook.com/mishraramkesh मेरा ब्लॉग-gajalsahil@blogspot.com Email-ramkeshmishra@gmail.com Mob--9125562266 धन्यवाद ।।

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

ग़ज़ल।इश्क़ की आंधियों मे उड़ा ले गयी ।

================ग़ज़ल================= इश्क़ की आंधियां मे उड़ा ले गयी । [...]

ग़ज़ल।पर तुम्हारी आँख सा आइना कोई नही।

@@@@@@@@ग़ज़ल@@@@@@@@ बाद जाने के तेरे आसरा कोई नही । इश्क़ मे [...]

ग़ज़ल।नमक जो देश का खाकर विदेशी पेश आता है ।

*****************ग़ज़ल**************** शराफ़त छोड़ कर सच की हँसी भरसक उड़ाता है । [...]

ग़ज़ल।आइना उसको दिखाना चाहिए ।

""'''''''''''''''''''""""""""""""""ग़ज़ल""""""""''''"'''"""""""""""" आग़ बदले की बुझाना चाहिए । [...]

नवगीत।रातों मन के अंधेरों मे तस्वीरें चलती रहती है ।

नवगीत रातों मन के अंधेरों मे तस्वीरें चलती रहती है [...]

ग़ज़ल।दग़ा देने मुहब्बत के बहाने लोग बैठे है ।

================ग़ज़ल================= दुनियां के रिवाजों को भुलाने लोग बैठे [...]

ग़ज़ल।तू सुलगती आग़ तो शोला बना तैयार मै हूं ।

================ग़ज़ल================= सोच मत लग जा गले से बेक़सक दिलदार मैं हूं । [...]

ग़ज़ल।मुझे हर दर्द मालुम है दवा पाने नही निकला ।

  ================ग़ज़ल================ तनिक आया हूँ गर्दिश में हवा खाने नही [...]

ग़ज़ल।जहां मे ज्ञान का पौधा सदा बोता रहा शिक्षक ।

,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,ग़ज़ल ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,, सजता राह जीवन की स्वंय खोता रहा [...]

कविता। वही गुरु है अध्यापक है न कि कोई दग़ा पड़ाका ।

जीवन मे शिक्षक की अनिवार्यता , एवं शिक्षक के कार्य व्यवहार पर [...]

ग़ज़ल।दर्द के ऐसे निवाले पल रहे है आजकल ।

ग़ज़ल । दर्द के ऐसे निवाले पल रहे है आज़कल । सादगी मे लोग बेशक़ [...]

ग़ज़ल।गम से तेरे अभी तक रिहा न हुआ ।

ग़ज़ल /गम से तेरे अभी तक रिहा न हुआ । दर्द दिल का वही है दवा [...]

दोहे । चोटी कटवा भूत ।

दोहे शब्द शब्द की नाप से, भावों पर अनुबंध । दिन दिन यों [...]

🌷कविता🌷दुनियां बस एक तमाशा है ।

कविता । जीवन तो जिज्ञासा है । यह जीवन तो जिज्ञासा है । [...]

🌷ग़ज़ल🌷 तेरे आग़ोश के शाये पुराने हो गए लेकिन ।

*ग़ज़ल ।दीवाने हो गये लेकिन।* तेरे आग़ोश के शाये पुराने हो [...]

ग़ज़ल।चरागे उल्फ़त जला हुआ है ।

ग़ज़ल।चरागे उल्फ़त जला हुआ है । ग़मो का आलम सजा हुआ है । [...]

ग़ज़ल।वतन के सिपाही वतन याद रखना ।

,,,,,,,,,,,,,,ग़ज़ल/,,,,,,,,,,,, ख़ुदा के लिए ये वचन याद रखना । वतन के [...]

ग़ज़ल।वतन के सिपाही वतन याद रखना ।

,,,,,,,,,,,,,,ग़ज़ल/,,,,,,,,,,,, ख़ुदा के लिए ये वचन याद रखना । वतन के [...]

दुनिया मे सरदार तिरंगा भारत का ।

,,,,,,,,,,,,,,,ग़ज़ल,,,,,,,,,,,,,,,, दुनियां मे सरदार तिरंगा भारत का । [...]

आपका भी दिल दुखाना पड़ गया ।

@ ग़ज़ल/दिल दुखाना पड़ गया ।@ जिंदगी मे आपको भी आजमाना पड़ गया [...]

झुक न पायेगा कभी झंडा वतन का ।

---- ------------ग़ज़ल---------------- झुक न पायेगा कभी झंडा वतन का । है जवां [...]

जिंदगी मे हर किसी को आजमाया न गया ।

ग़ज़ल ।जिंदगी मे हर किसी को आजमाया न गया । आंसुओं का दौर था [...]

ख़ुदी को प्यार मे झोंका नही था ।

ग़ज़ल ख़ुदी को प्यार मे झोंका नही था । ख़ुदी को प्यार मे झोंका [...]

जफ़ा ऐ इश्क का किस्सा सुनाते रह गए सबको ।

ग़ज़ल। किस्सा सुनाते रह गए सबको । कुरेदा जख़्म महफ़िल मे दिखाते [...]

मैं तो शायद बदल गया हूं ।

मै तो शायद बदल गया हूं पर तुझमे जज़्बात नही है ।। और आंधियां [...]

हाल कैसे कहे अनकही दोस्ती ।

हाल कैसे कहे अनकही दोस्ती । उम्रभर हाशिये पर रही दोस्ती [...]

मुझको खुद का प्यार समझ ले ।

मुझको ख़ुद का प्यार समझ ले । बिन कांटो का हार समझ ले ।। टूट [...]

दिवाने हो गये लेकिन ।

*ग़ज़ल ।दीवाने हो गये लेकिन।* तेरे आग़ोश के शाये पुराने हो [...]

ढूढ़ता कौन है जिंदगी को कभी ।

ढूढ़ता कौन है जिंदगी को कभी ।। वक़्त मिलता नही आदमी को कभी ।। [...]

आपने आपसे टूटता रह गया

ग़ज़ल *आपने आपसे टूटता रह गया ।* आपने आप से टूटता रह गया ।। [...]