साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Rakesh kumar

Rakesh kumar
Posts 13
Total Views 130

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

मोड़

हर मोड़, झंझोड़ देता है, और छोड़ जाता है पीछे कुछ अनछुई [...]

प्रद्युमन की मौत का कारण

घोर निद्रा से ऑंख खुलते ही, खबर सुनी एक बच्चे की हत्या [...]

अनिश्चिताओं का सफर

कहीं यह कोहरा घना है, या दुँधली मेरी आँखे हो गई है... या जीवन के [...]

ख़ुशी,खुदखुशी..

कहीं खुद की ख़ुशी, खुदखुशी ना बन जाये... और दुसरो की [...]

मेरे अंदर के लेखक

गर में सोच समज के लिखू, तो मैंने लिखा ही क्या.., जो महसूस ना कर [...]

हर पल की कहानी

जीता हूँ हर पल, उस पल के बाद मर भी जाता हूँ.... साँसों के इस बाँध [...]

उजड़े चमन

महफ़िल के सितारे, महफ़िल से हरे... लाल रंग से दूर, लाल रंग में [...]

औरत

औरत, एक अनोखी गाथा, एक अनसुलझा रहस्य है उसके दिल को छू जाओ तो [...]

प्रेमपीरा

जब रोम रोम टूट जाये जब ह्रदय मस्तिक्ष की ना सुन पाए जब पीर [...]

ताज

जो मोहताज हो किसीका वो ताज़ किस काम का जो गिर के न उठे वो जाबाज़ [...]

अजब गजब की दुनियाधारी

कभी जिनका सम्मान किया जाता था वो आज खुद सामान बन कर रह [...]

व्यर्थ की कविताएं

व्यर्थ की हैं ये कविताएं ना भाव छिपा है इनमें ना भावार्थ ना [...]

हो जा दूर….

हो जा अब दूर मुझसे, मेरी ज़िन्दगी से, मेरे सपनो से.... हो जा दूर [...]