साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Rajshree Gaur

Rajshree Gaur
Posts 15
Total Views 1,118
लेखिका राजश्री गौड़ बीए बीएड़ जन्मतिथी24-11-56. पिता --श्रीभीमसेन पराशर माता -श्रीमति जयदेवी पराशर साहित्यिक सम्मान--नारीगौरव,भारत की प्रतिभाशाली कवयित्रियाँ , प्रेम काव्य सागर , काव्यश्री सम्मान।

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

ख़्वाबों की किरचियों में हूं

ख़्वाबों की किरचियों में हूं तो हसरतों में हूं । तेरे लबों [...]

आखिरी सांस तक रवानी है

आखिरी सांस तक रवानी है। जिंदगी की यही कहानी है। जिंदगी का [...]

लगी यूं झड़ी फिर ख़्यालात की

लगी यूँ झड़ी फिर ख़्यालात की। कटेगी नहीं रात बरसात की [...]

अश़्कयूंबेबसी में

अश्क यूँ बेबसी में बहाते रहे। तुम हमें हम तुम्हें याद आते [...]

शजर रूठा हुआ रहता है सावन रूठ जाता है

शज़र रूठा हुआ रहता है सावन रूठ जाता है । बुजुर्गों के बिना तो [...]

किसे गुजरा जमाना देखना है

किसे गुजरा जमाना देखना है। हमें आगे का रस्ता देखना है। चले [...]

तमाम उम्र बिता दी मगर नहीं जाना।

तमाम उम्र बिता दी मगर नहीं जाना। कि जिंदगी के सफर को सफर [...]

वही कल तुमको पाना है

मेरे आँगन की चिड़िया, तुम उड़ परदेश जाना है , पिया के देश जाना [...]

नैतिक मू्ल्य

नैतिक मूल्य रहे कहाँ इन्सानों में मानव भटका स्वार्थ के [...]

पिया याद रखना

जाते हो जाओ, पर याद रखना, राह की मेरे पहचान रखना । आये जो [...]

मेरी नजर में धर्म

मेरी नजर में ----- क्या है धर्म ? किसी ने मुझसे बोला मैंने भी [...]

प्रीत बावरी

भोली-सी ये प्रीत बावरी, मन मेरा भरमाती है । पी' आयेंगे, चुपके [...]

एक औरत

-----एक औरत---- एक औरत... जब अपमान, तिरस्कार सहते सहते क्षुब्ध हो [...]

मेरी बेटी—मेरीदुनिया

मेरी बेटी---मेरी दुनिया तुम कल भी मेरी दुनिया थी, तुम आज भी [...]

मेरी बेटी—मेरी य

------मेरी बेटी---मेरी दुनिया------ तुम कल भी मेरी दुनिया थी, तुम आज [...]