साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Dr.rajni Agrawal

Dr.rajni Agrawal
Posts 83
Total Views 1,707
 अध्यापन कार्यरत, आकाशवाणी व दूरदर्शन की अप्रूव्ड स्क्रिप्ट राइटर , निर्देशिका, अभिनेत्री,कवयित्री, संपादिका समाज -सेविका। उपलब्धियाँ- राज्य स्तर पर ओम शिव पुरी द्वारा सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार, काव्य- मंच पर "ज्ञान भास्कार" सम्मान, "काव्य -रत्न" सम्मान", "काव्य मार्तंड" सम्मान, "पंच रत्न" सम्मान, "कोहिनूर "सम्मान, "मणि" सम्मान  "काव्य- कमल" सम्मान, "रसिक"सम्मान, "ज्ञान- चंद्रिका" सम्मान ,

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

*पायलिया* मुक्तक

*पायलिया* ******* बरसती बारिशों में आग पायलिया लगाती है। दिलों [...]

“अहंकार” दोहे

"अहंकार" दोहे *********** अहंकार को त्याग दो, सर्प भाँति [...]

“इंसानियत” मुक्तक

इंसानियत ****** पहन कर बैर का जामा बढ़ाते हसरतें क्यों हो? पढ़ा [...]

“मधुशाला” मुक्तक

"मधुशाला" मुक्तक ********* छुआ दे आज अधरों से अधर का जाम [...]

“इंसानियत” मुक्तक

"इंसानियत" ******** बहा कर प्रीत का सागर, सरस सम भाव उपजाएँ। बनें [...]

कैसे इंसान हो कि हर बात पे हँस देते हो??

कैसे इंसान हो कि हर बात पे हँस देते हो?? ****************************** कभी खुद को [...]

“सिसकती पशुता”

"सिसकती पशुता" ************ मधुर वचन से आच्छादित नर नाग सरीखे डँसते [...]

“ज़िंदगी” कहानी

*ज़िंदगी* ******** धूप की तरह खिलखिलाती राहत की ज़िंदगी में इस [...]

*आतंकवादी* दोहे

"आतंकवादी" दोहे ********** (१) आतंकी सैलाब में,दैत्य चलाते नाव। [...]

“वाणी का महत्त्व” दोहे

"वाणी का महत्त्व" दोहे *************** मुख चंदा तन चाँदनी,रूप सजा [...]

“घिर आई रे बदरिया सावन की” (लेख)

"घिर आई रे बदरिया सावन की" ********************** जी चाहे बारिश की [...]

“गुरु की महिमा” दोहे

"गुरु की महिमा" दोहे गुरु महिमा गुणगान कर,गुरु को दो [...]

“पर्यावरण संरक्षण” हाइकु

"पर्यावरण संरक्षण" हाइकु (१)धरा उदास दहकते पलाश मेघा [...]

“शक” लघु कथा

"शक" लघु कथा बदलते परिवेश में मौसम से बदलते अनगिनत रिश्ते दबे [...]

*समंदर* मुक्तक

समंदर (मुक्तक) कभी खाली नहीं रहता समंदर आँख का ए दिल। ग़मों [...]

माहिया छंद

"मधुशाला" (माहिया छंद) ************ रातों को आते हो नींद चुरा [...]

“काश कोई रखवाला होता”

"काश कोई रखवाला होता" ******************* अपमानों के पंख लगाके, इस दुनिया [...]

“बारिश में”

"बारिश में" ******** बह्र-१२२२ १२२२ १२२२ २२ काफ़िया- [...]

*प्राकृतिक आपदाएँ* हाइकु

हाइकु मञ्जूषा अंक - 49 विषय:- ***** प्राकृतिक आपदाएँ 01. आंधी 02. [...]

“क्यों ना देखूँ ख़्वाब नया”

"क्यों ना देखूँ ख्वाब नया" ****************** मरुधर से निर्मम जीवन [...]

ईद मुबारक

*ईद मुबारक* ********** एकता, प्रेम, सौहार्द, भाईचारे की मिसाल "ईद" को [...]

ईद मुबारक(मुक्तक)

ईद मुबारक !!! मुबारक ईद हो तुमको तुम्हारी दीद बन जाऊँ। बनी [...]

“योग जीवन की औषधि”

*योग जीवन की औषधि* [...]

विरह गीत

विरह गीत ******** श्यामघटा घनघोर निहारत बूँद झमाझम गीत [...]

वर्षा ऋतु हाइकु

"वर्षा ऋतु" हाइकु ********** (१) काले बादल हँसता मरुस्थल [...]

“अनबुझी प्यास” (ग़ज़ल)

ग़ज़ल "अनबुझी प्यास" बह्र 1222×4 काफ़िया-आ रदीफ़- जाओ छलकते जाम [...]

“परिवार का आधार स्तंभ पिता”

"परिवार का आधार स्तंभ पिता" ********************** माता-पिता यानि [...]

“पिता”

"पिता" आँगन की फुलवारी हरदम लहू दे सींचते हैं जो, दु:ख हरते [...]

“भोर’

"भोर" (१)दिश प्राची सोहे गगन,सूरज तिलक लगाय। तज निद्रा जागे [...]

“प्रकृति और मानव”

"प्रकृति और मानव" (१)वन उपवन खंडित लखे, तरुवर सरिता खोय। [...]