साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Rajendra jain

Rajendra jain
Posts 19
Total Views 55
प्रकृति, पर्यावरण, जीव दया, सामाजिक चेतना,खेती और कृषक की व्यथा आदि विषयों पर दोहा, कुंडलिया,चोपाई,हाईकु आदि छंद बद्ध तथा छंद मुक्त रचना धर्मिता मे किंचित सहभागिता.....

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

हाईकु एकादश

आज के हमारे अभी अभी के हाईकु सादर... स्वप्न हाईकु-एकादश [...]

हाईकु-एकादश

हालातों की जब भी बात हुई किसान की हालत किसी से छिपी नही है [...]

हाईकु अष्टक

आज के दिन पर देखिए हमारे हाईकु कुछ इस तरह हाईकु-अष्टक [...]

कोई भी मजबूर न

आज हमारी रचना देखिए कुछ इस तरह कोई भी मजबूर न चिल चिलाती [...]

कुँडलिया छंद

[12/2, 12:23 pm] राजेंद्र जैन 'अनेकांत': आज वन, वन जीव पर्यावरण से [...]

कुडलिया-छंदक्र.४५ से आगे

कुंडलिया छंद ४६ शामा शामा चिड़िया सुर मधुर, जंगल जंगल [...]

कुँडलिया-छंद

पशु पक्षी,पर्यावरण पर आधारित कुंडलिया छंद १ विषधर [...]

दोहे-एकादश

बसंत(फागुन) पर देखिए हमारा प्रयास.... दोहे-एकादश शरद विदाई [...]

हाईकु

आज के हमारे हाईकु देखिए कुछ इस तरह चुंबन प्रेम हाईकु-पंच [...]

हाईकु एवं चोपई छंद

इस देश का किसान मजदूर कर्ज मे जीता है और कर्ज मे ही मरता है इसी [...]

भूकम्प

भूकंप पर हमारे भाव सादर... कुंडलिया-छंद ईश्वर तेरे द्वार [...]

हाईकु-पंच

आज के हमारे हाईकु कुछ इस तरह सादर... हाईकु-पंच १ भ्रम मे [...]

निज कर्म

कर्तव्य(कर्म)पर हमारी आज की रचना कुछ इस तरह देखिए...... [...]

बसंत पर दोहा एकादश

बसंत पर देखिए हमारा प्रयास.... दोहे-एकादश शरद विदाई शुभ [...]

हाईकु-एकादश

आज देखिए हमारे हाईकु कुछ इस तरह हाईकु-एकादश १ पहला [...]

दुमदार दोहे

आज देखिए हमारे कुछ दुमदार दोहे... दुमदार दोहे... १ लोकतंत्र [...]

हाईकु-पंच-कवि का मेवा

अभी अभी के हाईकु सादर.... हाईकु पंच १ नाम के लिए सीमाएँ तज [...]

हाईकु-छंद

१ सच्ची जिंदगी पापाचरण तज अच्छी वंदगी २ व्यसन [...]

हाईकु-पंच

आज के हमारे हाईकु देखिए कुछ इस तरह.... हाईकु-पंच १ हम जो [...]