साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Pushpendra Rathore

Pushpendra Rathore
Posts 19
Total Views 236
I am an engineering student, I lives in gwalior, poetry is my hobby and i love both reading and writing the poem

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

माँ और पत्थर

आज मिली थी मुझे निराला की वही पवित्रा हां वही जो अभी [...]

रात बीती

कल रात बड़ी खुशनुमा थी पूनम का चांद चमक रहा था नीले आकाश में [...]

बिटिया रानी

एक अनलिखी अनपढ़ी कहानी हूं, मैं जूही, चंपा व रातरानी [...]

तुम भूल गईं जबसे

कांटो से है अब यारी, गुलजार चुभे मुझको, तुम भूल गईं जबसे, [...]

हुक्म था अलगाव का सो तामील तक गये

हुक्म था अलगाव का सो तामील तक गये, आंसू जो मिले प्यार में वो [...]

चाँद को देखकर चाँद कहने लगा,

तरही गजल- चाँद को देखकर चाँद कहने लगा, ईद की ही तरह अब तु [...]

चंद अशआर लाया तुम्हारे लिये,

तरही गजल- चंद अशआर लाया तुम्हारे लिये, तुम गजल बनके आओ हमारे [...]

कुंवारी मां

इक लड़की थी भोली भाली सी, सलोनी, सांवली छवि वाली सी, इक मधुप [...]

शिकायत

तुम्हें मुझसे हरदम थी शिकायत, कि मैं तुम्हें कभी नहीं [...]

फाल्गुन मास

तन मन में है उल्लास सखी, आयो है फाल्गुन मास सखी, रंग बिरंगी [...]

मोहब्बत के गवाह

वो नदिया, वो दरिया, वो फूलों की बगिया, वो सरसों के खेत, और उनकी [...]

साकी सुरा पिला दे

साकी सुरा पिला दे, सब गम मे'रे मिटा दे, कर इस नशे से' पागल, खुद [...]

इश्क का किस्सा

इश्क का एक किस्सा सुनाएं तुम्हें, अश्क से रूबरू फिर कराएं [...]

बेवजह गीतिका छल रही है मुझे

आज फिर से हवा छल रही है मुझे, महक उसकी अभी मिल रही है मुझे, दूर [...]

प्यारा वतन

हर घङी बस चमन में अमन चाहिए, हंसता मुस्कुराता वतन चाहिए। [...]

बिटिया रानी

एक अनलिखी अनपढ़ी कहानी हूं, मैं जूही, चंपा व रातरानी [...]

नटखटिया दोस्ती

यार दोस्ती भी क्या अजीब रिस्ता है, साथ-साथ खेलते हैं, हंसते [...]

मां मेरा जहां

एक दिन मन ने सोचा कि चारों वेद, अठारह पुराण और सभी शास्त्र [...]

इश्क

एक गजल और- कब लगा है बेवफा का दाग ये दिलदार पर, संगदिल है ये [...]