साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Santosh Barmaiya

Santosh Barmaiya
Posts 43
Total Views 1,038
मेरा नाम- संतोष बरमैया"जय", पिताजी - श्री कौशल किशोर बरमैया,ग्राम- कोदाझिरी,कुरई, सिवनी,म.प्र. का मूल निवासी हूँ। शिक्षा-बी.एस.सी.,एम ए, बी.ऐड,।अध्यापक पद पर कार्यरत हूँ। मेरी रचनाएँ पूर्व में देशबन्धु, एक्स प्रेस,संवाद कुंज, अख़बार तथा पत्रिका मछुआ संदेश, तथा वर्तमान मे नवभारत अखबार में प्रकाशित होती रहती है। मेरी कलम अधिकांश समय प्रेरणा गीत तथा गजल लिखती है। मेरी पसंदीदा रचना "जवानी" l

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

बिछड़ी हुई गली

बिछड़ी हुई गलियों में बीती कहानी देखी। जगह-जगह में यादों की [...]

आँचल का एहसास

माँ ! मुझको याद नही परंतु, ऐसा पल आया होगा। प्रसव-वेदना ने [...]

💐💐💐💐बेटी की व्यथा💐💐💐💐

💐💐💐तुम्हारी परवरिश में कमी नहीं है माँ💐💐💐 बेटी की [...]

💐💐💐💐 अधूरी बातें 💐💐💐💐

*********** अधूरी बातें *********** मेरी आँखों के सामने वो हर दिन सजती [...]

💐💐💐#” सुहागरात एक एहसास”#💐💐💐

💐💐💐💐💐 "सुहागरात एक एहसास"💐💐💐💐 💐दाम्पत्य जीवन की [...]

सफर मोहब्बत का

चलो फिर किस्सा मोहब्बत का सुनाते है। पुरानी इश्क की गली से [...]

◆◆◆◆◆जुगाड़◆◆◆◆◆

जैसे ही शीर्षक श्री ने पटल विषय जुगाड़ बताया। हमने भी बेहतर [...]

नारी की गौरव गाथा

नारी पर गीत गजल कविता, शायरी करते रहे। रह-रह बात सशक्तिकरण [...]

******भाव कलम के******

छटा प्रातः की देख कर मन भाव ऐसे उठ गये। इंद्रधनुष रंगों ने [...]

***** पेट अग्नि*****

●★●★●★●★●★●★● जला नहीं है आज फिर, चूल्हा गरीब घर का। है [...]

मानव की मनमानी का

प्रकृति चिट्ठा खोल रही यहाँ, है मानव की मनमानी का। [...]

ये मोक्ष धाम

विधा - हाइकु सुंदर मन। हरे भरे है वन। स्वस्थ जीवन।। भौतिक [...]

गुलाब

विधा - हाइकु *************************** श्रद्धा अर्पण। चरणों में [...]

जिंदादिल वीर जवान

उठो, बनो शोले हे ! वीरों, अब वतन ए राह बुलाती है। दिखलाओ [...]

माँ वंदना

💐💐💐💐💐मातृदिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ💐💐💐💐💐 ★ [...]

आ अब लौट चले उस गाँव

आ अब लौट चले उस गाँव। जहाँ माँ के आँचल की छाँव।। करघा, आँगन [...]

वीर शौर्य

माँ की कोख में पलता यहाँ बच्चा शौर्यमय हो जाता है। [...]

💐💐आखिरी चाहत गजल💐💐

जीने की मेरी औ आखिरी चाहत गजल। जान भी निकले यहाँ, बस लिखते [...]

💐💐क्या मेरा है मुकद्दर💐💐

तू अपनों के साथ है, ये तेरा है मुकद्दर। मैं अपनों में पराया, [...]

💐💐पौधा लगवाते जाएँ💐💐

हर जन दूजे तक मेरी बात पहुंचाते जाए। चार पौधे जीवन में लगा [...]

## क्या खोया क्या पाया””

क्या खोया क्या पाया हमने इस तकरार में? बिखरे रिश्ते-नाते [...]

💐💐गरीबी का श्रृंगार💐💐

माँ ने दिया जन्म, इन सीढ़ियों में, माँ की ये मजबूरी थी। गरीबी [...]

💐💐💐 हाय रे गर्मी💐💐💐

तपता सूर्य। चिलचिलाती धूप। ऊफ, ये गर्मी।।1।। भीषण [...]

“”””””””””””गजल””””””””””

तू ही मेरी सुबह, तू ही शाम है। हर धड़कन मिरी अब तेरे नाम [...]

##### माता-पिता#####

उठाओ कलम अब, कलम चलाओ तुम। चरणों में मात-पिता, नमन कराओ [...]

“”””अधिकार””””””

कर हिस्सा रत्ती-रत्ती, बिखर रहा परिवार है। यह कैसा हक, कैसा [...]

“”””””नेता जी “”””””

व्यंग्य ********* मेरे देश का दुर्भाग्य, यहां नेता बूढ़ा होता [...]

“”बता दीजिए हुजूर””

इस तरह चोरी-चोरी आया न कीजिए। दिल में लगा के आग जाया न [...]

प्रकृति का निराला खेल

(दृश्य-:- एक परिवार जिसमें माता-पिता-डॉक्टर,3 बच्चे, डॉक्टर [...]

“”साजिश””

देखते ही देखते सपना कोई टूट गया। एक साजिश औ अपना कोई छूट [...]