साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Santosh Barmaiya

Santosh Barmaiya
Posts 26
Total Views 262
मेरा नाम- संतोष बरमैया"जय", पिताजी - श्री कौशल किशोर बरमैया,ग्राम- कोदाझिरी,कुरई, सिवनी,म.प्र. का मूल निवासी हूँ। शिक्षा-बी.एस.सी.,एम ए, बी.ऐड,।अध्यापक पद पर कार्यरत हूँ। मेरी रचनाएँ पूर्व में देशबन्धु, एक्स प्रेस,संवाद कुंज, अख़बार तथा पत्रिका मछुआ संदेश, तथा वर्तमान मे नवभारत अखबार में प्रकाशित होती रहती है। मेरी कलम अधिकांश समय प्रेरणा गीत तथा गजल लिखती है। मेरी पसंदीदा रचना "जवानी" l

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

💐💐आखिरी चाहत गजल💐💐

जीने की मेरी औ आखिरी चाहत गजल। जान भी निकले यहाँ, बस लिखते [...]

💐💐क्या मेरा है मुकद्दर💐💐

तू अपनों के साथ है, ये तेरा है मुकद्दर। मैं अपनों में पराया, [...]

💐💐पौधा लगवाते जाएँ💐💐

हर जन दूजे तक मेरी बात पहुंचाते जाए। चार पौधे जीवन में लगा [...]

## क्या खोया क्या पाया””

क्या खोया क्या पाया हमने इस तकरार में? बिखरे रिश्ते-नाते [...]

💐💐गरीबी का श्रृंगार💐💐

माँ ने दिया जन्म, इन सीढ़ियों में, माँ की ये मजबूरी थी। गरीबी [...]

💐💐💐 हाय रे गर्मी💐💐💐

तपता सूर्य। चिलचिलाती धूप। ऊफ, ये गर्मी।।1।। भीषण [...]

“”””””””””””गजल””””””””””

तू ही मेरी सुबह, तू ही शाम है। हर धड़कन मिरी अब तेरे नाम [...]

##### माता-पिता#####

उठाओ कलम अब, कलम चलाओ तुम। चरणों में मात-पिता, नमन कराओ [...]

“”””अधिकार””””””

कर हिस्सा रत्ती-रत्ती, बिखर रहा परिवार है। यह कैसा हक, कैसा [...]

“”””””नेता जी “”””””

व्यंग्य ********* मेरे देश का दुर्भाग्य, यहां नेता बूढ़ा होता [...]

“”बता दीजिए हुजूर””

इस तरह चोरी-चोरी आया न कीजिए। दिल में लगा के आग जाया न [...]

प्रकृति का निराला खेल

(दृश्य-:- एक परिवार जिसमें माता-पिता-डॉक्टर,3 बच्चे, डॉक्टर [...]

“”साजिश””

देखते ही देखते सपना कोई टूट गया। एक साजिश औ अपना कोई छूट [...]

धर्म के ठेकेदार

इतिहास के पन्नों में, मिलती गवाही जहाँ। धर्म ठेकेदारो ने , [...]

“””पाप-पूण्य”””

पाप-पुण्य की नगरी, ये मानव जीवन। पाप-पुण्य की घघरी, ये मानव [...]

तू और तेरी इबादत

तू और तेरी इबादत, सहारा है मेरा । भवसागर के पार तू, किनारा है [...]

“” मैं और मेरी पायल””

मैं, और मेरी पायल, अक्सर, एक बात कहा करते है, कि, शायद, तुम न [...]

मेरी सिंगवाहिनी

दर्शन दे दो मुझको आज, माई जगदम्बा भवानी । कर दो पूरण मेरे काज , [...]

“माँ कृपालिनी”

माँगता आशीष माँ , मानव उद्धार के लिए। कृपा करो कृपालिनी , [...]

सात दोहे

**************************************** जीवन पथ पर जो मिले , "जय" जीवन हो जाय। साथ-साथ, [...]

गर्मी

जब गर्मी का मौसम आता है । मुझे गाँव मेरा याद आता है ।। गर्मी [...]

“यारों से बचना”

कभी फूलों से ,कभी खारों से बचना । कभी दुश्मन से, कभी यारों से [...]

“हर एक दीवाना सा लगता है”

अब तो हर अपना,बेगाना सा लगता है। तेरा शहर भी गमों का,ठिकाना सा [...]

“आशिक तेरा मैख़ाने में”

कल ही मिला था,आशिक तेरा मैख़ाने में। छलका रहा था गम,भर-भर के [...]

“महिला शिक्षा की करामात”(एक व्यंग्य)

अभी नींद भी न खुली थी!और जोर की आवाज आई! ऐ मिस्टर! हैलो, गुड [...]

“तुम, मुझे याद करके देखना”

बिछड़ी हुई गलियों से, आज फिर गुजर के देखना। तन्हा ना कहोगे [...]