साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: drpraveen srivastava

drpraveen srivastava
Posts 33
Total Views 229

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

कविता (10 Posts)


शांति की खोज में

शांति की खोज में जीवन केवल्य मुक्त ,अंतर्द्वंद युक्त है , [...]

जन मानस के मन की बात

जनमानस के मन की बात जनता का दुख दर्द जमा है, सुख चैन जमा हैं [...]

मैं और तुम

मै और तुम तुम करुणा की मूर्तिमयी दिल , मै पत्थर दिल तन्हा [...]

सबसे बड़ा रुपैया

सबसे प्यारा रूपैया बाप भइया न मइया, सबसे प्यारा [...]

जीवन पथ के सुनहरे पल

जीवन पथ के सुनहरे पलः मेंने जीवन के अनमोल पलों को सजोंया [...]

मैं चंचल हूँ मेघों के पार से आया करता हूँ ।

मैं चंचल हूँ, मेघों के पार से आया करता हूँ मैं चंचल हूँ , [...]

जीवन एक व्यापार हो गया

जीवन एक व्यापार हो गया जीवन एक व्यापार हो गया , कृषक मौन , घर [...]

मातृ नमन जननी नमन ।

मातृ नमन -जननी नमन माँ बनने का अहसास अलग होता है , नव जीवन [...]

जीवन एक व्यापार हो गया ।

कविता –जीवन एक व्यापार हो गया । जीवन एक व्यापार हो गया , [...]

कविता –एकला चलो रे —

एकला चलो रे बचपन मे रेडियो पर रवीन्द्र संगीत सुनता [...]