साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Parul Sharma

Parul Sharma
Posts 5
Total Views 187

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

प्रदूषण

सरहदें लाँघ गया घुसपैठिया हर साँस,हर सोच,हर धड़कन को [...]

हे भारत माँ

ये जमीं तेरी,येआँसमाँ तेरा,येआबोहवा,प्रकृति व जहाँ भी [...]

यादें

मेरी याद का कोई कतरा जब रखोगे तुम अपनी आँखों में तो [...]

उम्मीद

उम्मीद का एक टुकड़ा हूँ जबकि दिल से टूटा हूँ,फिर भी पूरा हूँ [...]

कन्या भ्रूण (मैं तुम्हारा ही अंश हूँ )

क्या मेरी मौजूदगी का अहसास है तुम्हें क्या मेरे [...]