साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Omendra Shukla

Omendra Shukla
Posts 60
Total Views 607
नाम- ओमेन्द्र कुमार शुक्ल पिता का नाम - श्री सुरेश चन्द्र शुक्ल जन्म तिथि - १५/०७/१९८७ जन्मस्थान - जिला-भदोही ,उत्तर प्रदेश वर्तमान पता - मुंबई,महाराष्ट्र शिक्षा - इंटरमीडिएट तक की पढाई मैंने अपने गांव के ही इण्टर कॉलेज से पूर्ण किया,तदनुसार मै इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक की पढाई खत्म करने के बाद मै नौकरी के सिलसिले में मुंबई आया तथा पुणे के सिम्बायोसिस कॉलेज से पत्राचार के माध्यम से म.बी.ए. । निवास- मुंबई , महाराष्ट्र लेखन - कविता ,गजल ,हाइकू ,उपन्यास ,कहानी ,गीत । मो. न. -9702143477

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

जीवन संघर्षो भरा है

“भाग उठा होके परेशान जीवन के झंझावातों से दर्द बहुत है इस [...]

अध्यात्म विमुख होता जग

“एक दुविधा सी मन में उठती है दिल असमंजस से भर जाता है ज्ञान [...]

।।गणतंत्र बना गवारतंत्र ॥

“गणतंत्र बन गया गँवारतंत्र अब कुछ लोगो के कुंठित विचारों [...]

॥ सत्ता के स्वार्थी ॥ हाइकू

पैसठ साल बर्बादी भारत की सुध ना आई , गरीब लोग अर्धनग्न [...]

वीर हिन्द के वासी हम

“हम वीर हिन्द के वासी है हमसे ना टकराना तुम हो जाओगे [...]

गणतंत्र मुबारक हो तुमको

"हर चौराहे पे जहां सीता लुटी जाये और चंद रुपयो मे वर्दी बीक [...]

एक कविता भारतीय सेना के नाम

"आज कुत्तो ने शेरो को छेडा है शेरो कि मांद मे किया बसेरा [...]

बिकाऊ मिडीया

"सुबह-सुबह वो अखबार के पन्ने कुछ नये समाचार ले आते है खाली [...]

मेरे सपनो का विजय पर्व

"किस जीत कि हम बात करे और कौन सा विजय मिल पाया है ना तो बुराई [...]

कटघरे मे जीवन है

कटघरे मे जीवन "मन हि मन है अब नाराज यहां ना मन का कुछ कर पाता [...]

मजदुर हूं मै,मजबुर नही

"जीवन कण्टक भरा है मेरा ना हार मै कभी मानने वाला हर दर्द मै [...]

विमुद्रिकरण

जिस मुद्रा के खातिर, बदले थे तेवर हमने आज उसीने छिन [...]

गजल

गज़ल :-- तू महलो कि रानी है जन्नत सी तेरी कहानी है । मै विराना [...]

गजल

"हर पल गुजर रहा है,अब धीरे-धीरे कोई इश्क कर रहा है,अब [...]

गजल

"नहीं मांगु खुदा से मै और भी कुछ जो इक बार गर तु मुझे मिल जाये [...]

गजल

"नहीं आती है नींद मुझे रातो को तुम रोज ख्वाबो मे आना छोड [...]

गजल

"ऐ !खुदा क्यु खफा है तु आज मुझसे जरा मुझे इस खफा कि खता तो बता [...]

गजल

"रोज-रोज ख्वाबो मे आना छोड दो होठो पे नये गीत गुनगुनाना छोड [...]

भारत कि तस्वीर

"फटे पूराने कपडो मे,वो बाहर घुमके आता है गरीबी नाचती रहती [...]

बदलता परिवेश और परिवार

"समय बदला,बदले रिश्ते और बदला घरबार है दुनिया बदली,जहां है [...]

वृक्ष हमारे जीवनसाथी

"दर्द से शिथिल इस दुनिया मे कौन है मेरा नाम ये तो मेरी माटी [...]

“याद आते हो हमेशा,चोरी-चोरी”-गजल

"देखा करते है तुझे हम चोरी-चोरी इश्क करते है तुझे हम [...]

“नया वर्ष मंगलमय हो “

"हर साल आते है ,ये नये साल आते है पूराने छुट जाते है,नये सब साथ [...]

“इश्क करना नही आता ” -गजल

"हंसना नही आता, हमे रोना नही आता रहूं पास जो तेरे,तो खफा होना [...]

“बेटियाँ पराया धन होती है ||”

“नन्हे-नन्हे क़दमों से घुटनों के बल तेरा चलके आना बैठ गोंद [...]

“बेटियाँ पराया धन होती है ||”

“नन्हे-नन्हे क़दमों से घुटनों के बल तेरा चलके आना बैठ गोंद [...]

||बदहाल किसान |हाइकू ||

||बदहाल किसान |हाइकू || “पालनहार होता विमुख आज अधिकारों से [...]

||बचपन की याद दिलाता है ||

“वो बचपन के भी क्या दिन थे वो पापा की डांट,माँ की दुलार और [...]

||खादी ,खाकी और मीडिया ||

“हुयी मुलाकात खाकी और खादी की नीलामी के बाजार में हाल पूछ एक [...]

||मेरी नन्ही परी ||

“नन्हे नन्हे क़दमों से अपने वो पास जो दौड़ी आती है लग गले से वो [...]