साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Neelam Ji

Neelam Ji
Posts 43
Total Views 9,351
मकसद है मेरा कुछ कर गुजर जाना । मंजिल मिलेगी कब ये मैंने नहीं जाना ।। तब तक अपने ना सही ... । दुनिया के ही कुछ काम आना ।।

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

कविता (30 Posts)


** गर बेटों को भी संस्कार देते …**

गर बेटों को भी संस्कार देते , बेटियों की तरह ही विचार देते [...]

नारी बिन दुनिया अधूरी,जग को अहसास कराना होगा …

नारी बिन दुनिया अधुरी , जग को अहसास कराना होगा । रूढ़िवादी [...]

* जीओ ना तुम जरा जरा *

जब दिल उमंग से हो भरा , सब कुछ लागे हरा-भरा । जी लो जी भर के आज [...]

* नारी को भी अब जीना आ गया *

देखा नहीं था बुरी नजर से , जिसने दुश्मन को भी कभी । आज उसे [...]

** बदलते रिश्ते … **

🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃🍃 अपने तो हैं अपनापन नहीं , भाई तो है भाईचारा [...]

** बन न जाए दास्ताँ **

जब रूह को रूह से होगा वास्ता , खुद ब खुद बन जाएगा रास्ता [...]

** मेरी बेटी **

मिश्री की डली है मेरी बेटी , नाजों से पली है मेरी बेटी । हर गम [...]

* प्रभु वन्दना * तेरा मेरा प्रभु ये कैसा नाता है ?

तेरा मेरा प्रभु ये कैसा नाता है ? तेरे बिना न कुछ भी मुझको [...]

** बेटियाँ **

जिस घर खुशी से खिलखिलाती हैं बेटियाँ । ब्रह्मा विष्णु महेश [...]

* मत मार गर्भ में मुझको माता *

मत मार गर्भ में मुझको माता , कर थोड़ा तो रहम मेरी दाता । तुम ही [...]

*माँ बाप का निःस्वार्थ प्यार *

हम चाहे जितने बड़े हो जाएं , बचपन कभी नहीं भूलते । भले ही भूल [...]

* मत भूलना माँ का प्यार *

💓💓💓💓💓💓💓 भूल जाओ हर बात चाहे मत भूलना माँ का प्यार जान से [...]

बेटी और बेटे में भेद क्यूँ होता ?

😢😢😢😢😢😢😢 बेटी और बेटे में भेद क्यूँ होता ? बहुत सोचा पर समझ [...]

*बेटी होती नहीं पराई …*

बेटी होती नहीं पराई । पराई कर दी जाती है ।। पाल पोसकर जब की [...]

*जब बेटी बड़ी हो जाती है …*

उछल कूद बंद हो जाती है । जब बेटी बड़ी हो जाती है ।। चंचलता [...]

* औरत तेरी यही कहानी *

दिल में दर्द आँखों में पानी , औरत तेरी यही कहानी । हस्ती अपनी [...]

** बेटी का दर्द **

नई उम्मीदें नए सपने संजोती बेटी । शादी होकर जब ससुराल जाती [...]

*साक्षात् शक्ति का रूप है नारी*

कभी माँ तो कभी पत्नी है नारी , कभी बहन तो कभी बेटी है नारी । मत [...]

* सफर जिंदगी का *

आसां नहीं सफर जिंदगी का हर पल इम्तेहाँ होता है । दिल जान लगा [...]

*वो हम नहीं *

राह से भटक जाएं वो हम नहीं । हार के बैठ जाएं वो हम नहीं ।। डर [...]

* मर्द *

मर्द कभी नारी को बेइज्जत नहीं करते । अपनी माँ की कोख को [...]

** आँसू **

रिश्ता आँसू का नयनों से गहरा , पलकें देती आँसू का पहरा । बात [...]

*जिंदगी एक जंग*

हर किसी को नहीं मिलता साथ अपनों का , जंग जिंदगी की अकेले ही [...]

**कामयाबी**

यूँ ही मिलती नहीं मुफ़्त में कामयाबी ! एक जुनूँ सा दिल में [...]

* दिल की ख्वाहिश *

दिल कहे मैं झूम लूँ , सारी दुनिया घूम लूँ । कोई ख्वाहिश रहे [...]

*हर दिल अजीज हम बन पाएं *

हे भगवन् बस इतनी इनायत हो जाए । गलती से भी गलती ना हो पाए । सदा [...]

**औरत का सम्मान हम सबका सम्मान**

माँ बहन बेटी बहु ये रूप अनेकों रखती है ! कोमल कोमल दो हाथों से [...]

** दुआ **

** दुआ ** यूँ ही बेवजह ख़ुशी जब अपने भीतर पाया करो ...! कोई कर रहा [...]

**जिंदगी है दो पल की**

जब से जिंदगी को जाना है, बस इतना ही पहचाना है । जिंदगी है दो पल [...]

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

**बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ** पढ़ेगी बेटी आगे बढ़ेगी बेटी । बेटों से [...]