साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Manchan Kumari मंचन कुमारी

Manchan Kumari मंचन कुमारी
Posts 7
Total Views 357
Student समस्तीपुर कालेज , समस्तीपुर ! हिन्दी एवं अंग्रेजी मे लिखना पसंद है, .....कुछ अच्छा लिखना मेरा सपना है । ( लिखना तो बस आदत ही नही, कुछ भी लिख दूँ ऐसी चाहत ही नही , मन बोले शब्दों को तौलें , दिल की बाते भी ये इबादत ही नही । ……….मंचन .)

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

(1 मुक्तक) — हम तो अब कश्मीर हो गए, {और 1 अन्य}– (2)जीवन

1)हम तो अब कश्मीर हो गए, बड़े ही हम मशहूर हो गए, भारत पाकिस्तान [...]

कोई विशेष! —–

कोई इतिहास लिखता है, कोई इतिहास पढता है, हर एक इतिहास को [...]

नवरात्रि के नये संकल्प):::::

सुन्दर मधुमय ये ध्वनि तरंग, धरा पे शरद की ये नई सुगंध। आने [...]

जिंदगी और मौत । 😌

कभी जिंदगी पे मन सोचे, कभी मौत पे मन सोचे। है दिवाने दोनो के [...]

बेटियाँ ——

है बोझ नहीं ये जान लो तू , दुनिया वाले ये मान लो तू। मिलता है [...]

बेटियाँ —— 😊

है बोझ नहीं ये जान लो तू , दुनिया वाले ये मान लो तू। मिलता है [...]

🙂दायरे ।

🙂 सोचो के दायरे , ये सपनों के दायरे । बोले तो क्या बोले, ये [...]