साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Mamta Rani

Mamta Rani
Posts 17
Total Views 217

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

अहंकार

पता नही लोग इतने मगरूर क्यों है, अपने ही अहम में चूर क्यों [...]

सरस्वती माँ की कृपा

सरस्वती माँ की कृपा, बनी रहे सबपर। विद्या और बुद्धि का हो [...]

समाचार पत्र

समाचार पत्र हमारे घर रोज आता है, अपने साथ ढेरों खबरे लाता [...]

मन की उलझन

मन की उलझन ऐसी है, उलझी रस्सी जैसी है। मन की उलझन कभी ना [...]

प्यारा परिवार

मेरा है प्यारा परिवार, सभी करते एक दूसरे से प्यार। परिवार की [...]

करें योग रहें निरोग

करें योग रहें निरोग, योग करें रोज रोज। योग है सदियों [...]

बाल श्रम एक अभिशाप

बाल श्रम है  , एक अभिशाप। जो भी करवाते, उनसे काम , वो है, पाप का [...]

मम्मी मेरी सबसे प्यारी

मम्मी मेरी सबसे प्यारी, सबसे न्यारी मेरी मम्मी। लगती है [...]

पढ़ाई

पढ़ाई हो या हो कोई काम, करो पूरी मेहनत और लगन के साथ। अगर हो [...]

कलयुग और सतयुग

कलयुग का अंत होने वाला है, सतयुग आने वाला है। कलयुग में तो [...]

जल ही जीवन है

जल ही जीवन है, जल के बिना जीवन असंभव है। जल ही हमारी प्यास [...]

नोट बंदी

        नोट बंदी मोदी जी के नोट बंदी ने, हाहाकार मचा [...]

नोट बंदी

        नोट बंदी मोदी जी के नोट बंदी ने, हाहाकार मचा [...]

फोन का प्रभाव

आज कल व्यक्ति सोशल साइट्स और सेल्फ़ी के इतने आदि हो चुके है [...]

जुगनू

जुग-जुग जुगनू, प्यारी सी जुगनू। रात को आती, दिन को [...]

शरारती बंकू

किसी शहर के समीप एक जंगल था, जिसका नाम सुंदरवन था। उस वन में [...]

माँ है जन्नत

माँ तो है जन्नत की नूर प्यार करना उसका उसूल। माँ ही है सारा [...]