साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: भूरचन्द जयपाल

भूरचन्द जयपाल
Posts 302
Total Views 4,627
मैं भूरचन्द जयपाल वर्तमान पद - प्रधानाचार्य राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, कानासर जिला -बीकानेर (राजस्थान) अपने उपनाम - मधुप बैरागी के नाम से विभिन्न विधाओं में स्वरुचि अनुसार लेखन करता हूं, जैसे - गीत,कविता ,ग़ज़ल,मुक्तक ,भजन,आलेख,स्वच्छन्द या छंदमुक्त रचना आदि में विशेष रूचि, हिंदी, राजस्थानी एवं उर्दू मिश्रित हिन्दी तथा अन्य भाषा के शब्द संयोग से सृजित हिन्दी रचनाये 9928752150

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

,** कब कहा मैंने तुम्हें **

कब कहा मैंने तुम्हें जिंदगी रास्ता दे कब कहा मैंने [...]

** कमबख्त जिंदगी **

कमबख्त जिंदगी कब तलक और तड़पायेगी मुझे ठहर ज़रा इक मोड़ पर तो [...]

* रूह कब कहती है तूं किसी से बैर कर *

रूह कब कहती है तूं किसी से बैर कर रूह कब कहती है तूं किसी से [...]

** मीठा लाडूडा **

अरे मीठा-मीठा लाडूडा रे,मीठा-मीठा लाडूडा तने भावे मीठा [...]

*** हम प्यार महज उन्ही से करते हैं ***

हम तो इजहार-ए-मुहब्बत करते हैं हम वक्त का इंतजार नहीं करते [...]

** दर्दे निहा **

दर्दे निहा उठता है दिल से परवाजे म्यूर तू उनको बता वजहे इताब [...]

** दो जमात पढ़े नहीं **

जूनूं इश्क का इस क़दर सर चढ़ बोल रहा हवा में फिर ठहर - ठहर दिल डोल [...]

** दिया जले **

रात के मद्धिम अंधेरे दूर करने को जले दिया जले होले - होले [...]

* ऐसा क्यूं होता है ?

जाने ऐसा क्यूं होता है ? जब मैं अपने से जुदा होता [...]

** ओ कंजकली **

ओकंजकली मिश्री की डली, ढूँढू मै तुझको गली-गली । लहराती अलकें [...]

** तीर चल गया **

सन्नन सा आँखों से तीर चल गया ना जाने किसका सितारा ढल [...]

** अजब मुस्कुराहट **

इस अजब मुस्कुराहट पे तो ये दिल वारा है कौन जाने अब फिर भी ये [...]

**** शेर ******

23.1.17 रात्रि 10.5 बागे बुलबुल को अब मुस्कुराना ही होगा [...]

** मेरे महबूब की आँखों में **

****🎂🎂🎂*** मेरी महोब्बत को ना परखो ऐ नाजनीनो-2 लग ना जाए इसको अब [...]

*** काश ये बात होती ****

कल उनसे हमारी मुलाकात होती मन से मन की कोई बात होती काशआज की [...]

**** सावण आयो झूम के****

सावण आयो झूम कै अंखियां बरषण लागी म्हारी नैणा सूं बरषण [...]

** तुम्हारी आँखों में **

बहुत है तपिस सीने में बारिश है तुम्हारी आंखो में रंजोगम [...]

*** कवि तेरी क्या कामना ***

कवि तेरी क्या कामना,हुआ जो आमना-सामना । देखा उसने हमें इस [...]

**** ओ मेरे यार ****

तूं सुन पुकार ओ मेरे यार ये छोटी सी जिंदगी है बस कर ले तूं [...]

**** तेरे इश्क को फिर नया नाम दूं ****

19.1.17 सन्ध्या 7.00 तेरे नाम को यदि दूसरा नाम दूं तेरे अंजाम को [...]

***** कव्वाली ******

🎂 जीना हुआ दुस्वार यारां मौत भी ना आयी । जीना [...]

*** तेरी खुशबू आती है ***

15.1.17 सन्ध्या 6.00 हर हर्फ़ से तेरी खुशबू आती है हर हर्फ़ से तूं [...]

*** चंद शेर ***

नूर तेरी नजरों का ना देख पायेंगे अब जिस्म की चकाचौंध से [...]

***** कविता कोई लिखूं क्या मैं *****

एवज में इस खालीपन के भूल चुका मैं अपना निजपन समय के खाली [...]

**** ख़ुशी का खजाना *****

मुस्कुराता था मैं आज फिर मुस्कुराना आ गया अनजाने में [...]

***** जज़्बा *****

************************* जज़्बा-ए-देशभक्ति का हम दिल में ले चले नेता है [...]

**** मैं पत्थर नहीं हूँ *****

मैं पत्थर नहीं हूं जो फैंक दे तूं दिल से निकाल और मुझे [...]

*** शायद इंसानियत कहीं खो गयी है **

******************* बस्तियां दिल की वीरां हो गयी है प्यार की [...]

**** तिलिस्म जिंदगी का। ****

************************ तिलिस्म जिंदगी का भी कितना अजीब है कैच [...]

कौन से ख़्वाब की तक़दीर हो तुम

किसी शायर की तराशी हुई नज़्म हो तुम विधाता की तराशी हुई [...]