साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: भूरचन्द जयपाल

भूरचन्द जयपाल
Posts 252
Total Views 3,064
मैं भूरचन्द जयपाल वर्तमान पद - प्रधानाचार्य राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, कानासर जिला -बीकानेर (राजस्थान) अपने उपनाम - मधुप बैरागी के नाम से विभिन्न विधाओं में स्वरुचि अनुसार लेखन करता हूं, जैसे - गीत,कविता ,ग़ज़ल,मुक्तक ,भजन,आलेख,स्वच्छन्द या छंदमुक्त रचना आदि में विशेष रूचि, हिंदी, राजस्थानी एवं उर्दू मिश्रित हिन्दी तथा अन्य भाषा के शब्द संयोग से सृजित हिन्दी रचनाये 9928752150

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

अन्य (16 Posts)


*बोल सियावर रामचन्द्र की जय*

हे मारुत नन्दन मारुती सुन क्रंदन सुन क्रंदन दुःख हर भय [...]

*अफसर की अगाड़ी और घोड़े की पिछाड़ी *

चर्चा का विषय था अफसर अफसर के पास या अफसर से दूर एक मोहतरमा [...]

** आकाशवृति **

🎂व्यक्ति को धरा और धरातल पर रहकर सोचना चाहिए । केवल [...]

** हमारी सड़क सी सपाट जिंदगी **

हमारी सड़क सी सपाट जिंदगी में मौत एक स्पीड ब्रेकर की तरह [...]

** एक प्रेमिका ने प्रेमी से कहा **

एक प्रेमिका ने प्रेमी से कहा **** पत्थरों से दिल लगाने से [...]

** चंद विचार ***

आरजू दिल की है तमन्ना शबे-रोज की है ऐ जिंदगी तूं तो बस [...]

स्तुति * शिव शंभो शिव शंभो *

शंभो शिव शंभो प्रभो शूलपाणे प्रभो शंभो शिव शंभो प्रभो [...]

* क्षणिका *

समझ नहीं आता जिंदगी इतनी जिद क्यूँ करती है जीने के [...]

* पवित्रता मन में बसी होनी चाहिए *

पवित्रता मन में बसी होनी चाहिए केवल लोगों को दिखाने के [...]

भजन :- * श्याम मोरे अब दे दो दर्शन *

प्रारम्भिक बोल श्याम मोरे अब दे दो दर्शन जीवन -सन्ध्या आन [...]

** मासूम समझकर **

मै जिसे प्यार करता रहा मासूम समझ कर वो ही मुझे जख़्म पे [...]

*** ईद की पूर्व संध्या पर *****

मैंने ईद की पूर्व सन्ध्या पर चाँद को देखा होले होले मेरे [...]

*** बादल भी कभी माना है *****

****************** कब तलक बरसने का इंतजार करते रहे तुम आज तुम ही कहते [...]

**नक़ाब**

खूबसूरत दिल को नकाब की आवश्यकता नहीं नकाब तो झूठे लोग [...]

*डार्लिंग*

डार्लिंग इससे तो हम कुंवारे ही अच्छे थे कम से कम तुम्हें [...]

*भजन*

*भजन* 🎂*******🎂 पीरां में पीर कहावे रामापीर आन हरो म्हारे [...]