साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: krishan saini

krishan saini
Posts 6
Total Views 332
पता-विराटनगर जयपुर(राजस्थान) जीवन को मॉ सरस्वती की सेवा मे लगाने का सपना Mo.no.-9782898531 Twitter-krish24496

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

प्यार दिखा के गौरी तुमने

प्यार दिखा के गौरी तुमने शमशीर मेरे चुबो दिया… सबकुछ [...]

प्यार……… कृष्ण सैनी

ना हो शब्दो से बयाँ ये ना ही कोई परिभाषा हर किसी के मन मे [...]

विरह गीत

वो तेरी हर मुलाकाते अब मुझे रूलाती है वो तेरी हर बाते अब [...]

प्यार मे मन

सब बाते झूठ और सपने सच हो जाते है जब हम किसी के और वो अपने हो [...]

माँ मैने क्या कसूर किया

माँ मैने क्या कसूर किया जो तुने मुझे छोड दिया एकांत में मरने [...]

सबसे बडा भूत

जब मै छोटा बच्चा था दादी माँ ने सुनाया जो मुझे वो भूतो का [...]