साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Kokila Agarwal

Kokila Agarwal
Posts 50
Total Views 437
House wife, M. A , B. Ed., Fond of Reading & Writing

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

मुक्तक (3 Posts)


मुक्तक

ज्ञान पिपासा भोले पंछी चुग चुगके सब पान लिया आत्मसात करके [...]

सत्रह

छ:छ: पांच सत्रह का एक दांव शकुनि का क्या बोल गया विवश हुआ [...]

मुक्तक

गांठ दिल की तुम कहो तो खोल दूं देख ली दुनिया बहुत क्या मोल [...]