साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Kajal Soni

Kajal Soni
Posts 5
Total Views 214

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

“मन”…….. काजल सोनी

मन की बातें मन ही जाने, कोई और समझ न पाये । कभी तन्हा, कभी [...]

इश्क है तुमसे

बेशक मुझे इश्क है तुमसे, मगर मेरी जां तुम मिल न सकोगी मुझसे । [...]

अक्सर

हम तुम्हारी चाहत में अक्सर मौसम की तरह बदलते हैं । कभी [...]

बेटी

गम में न करती हूँ , फरियाद किसी से , नाकाम हसरतों में भी, जी [...]

दोस्त

उम्र बित गये, दोस्त बनाते बनाते । सफर कट गये, उन्हें निभाते [...]