साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Hardeep Bhardwaj

Hardeep Bhardwaj
Posts 5
Total Views 308
Software Developer by profession, Writer from my heart. Love English, Hindi and Urdu literature. Email: hardeepbhardwaj67@gmail.com

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

शाम आखिरी हो |

मत रूठा करो मुझसे यूं तुम क्या पता मेरे होठों पे ये तुम्हारा [...]

बात बाकी थी

कहां चले गए थे तुम। मुझे अकेला छोड़ के।। अभी मेरी बात बाकी थी [...]

दर्द बाहर निकले लगा

है जो सीने मे दर्द भरा लिखने बैठा तो बाहर निकलने लगा | बरस [...]

तुम हो

क़ज़ा भी तुम हो हयात भी तुम हो डायरी के पन्नों पर उतरे लफ्ज़ भी [...]

मेरा एक दोस्त खो गया है (नज़म )

पता नहीं कहाँ गुम है वक़्त की गलियों मे वो ही गलियां जिनका शोर [...]