साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: govind sharma

govind sharma
Posts 13
Total Views 712

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

गज़ल

सारे रिश्ते खफ़ा हो गए, मुश्किलो में हवा हो गए।। है यकीं है [...]

तेरी दीद के बिन न सोया करेगे…

खयालो में तेरे यूँ खोया करेगें, तेरी दीद के बिन न सोया [...]

राब्तो को आजमाना चाहिए

एक गजल.. दर्द में भी मुस्कुराना चाहिए, राब्तो को आजमाना [...]

जिंदगी ढूँढता किधर तन्हा

एक गजल पेट की भूख से है घर तन्हा, जिंदगी ढूंढता किधर [...]

गीत

एक गीत... हमारी जाँ पे आफत हो रही है, हमे जब से मुहब्बत हो रही [...]

तुम्हारे बिन कयामत

एक नई गजल हमारी जाँ पे आफत हो रही है, तुम्हारे बिन क़यामत हो [...]

दो दिलो को पास लाती शायरी….

मापनी...2122,2122,212 प्यार को दिल में जगाती शायरी, दो दिलो को पास [...]

घरो को घर बनाती…

रात दिन है मुस्कुराती बेटियां, दो घरो को घर बनाती [...]

मुक्तक

मुक्तक...... इस मुहब्बत में मिला कुछ नही., आशिकी से अब गिला कुछ [...]

जिंदगी को हँसाना नये साल में”

रंज ओ गम मिटाना नये साल में, जिंदगी को हँसाना नये साल [...]

मुक्तक

उठा अपनी कलम फिर जंग का आग़ाज़ कर मुश्किलो को तोड़कर अम्बर [...]

हम मिले तो गुल खिलेंगे देखना…..

अब हसी लम्हे बढेगे देखना, हम मिले तो गुल खिलेंगे [...]

अगर उम्मीद है आसार बाकी है…

जमी से आसमा का सार बाकी है, अगर उम्मीद है आसार बाकी [...]