साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: दुष्यंत कुमार पटेल "चित्रांश"

दुष्यंत कुमार पटेल
Posts 91
Total Views 4,051
नाम- दुष्यंत कुमार पटेल उपनाम- चित्रांश शिक्षा-बी.सी.ए. ,पी.जी.डी.सी.ए. एम.ए हिंदी साहित्य, आई.एम.एस.आई.डी-सी .एच.एन.ए Pursuing - बी.ए. , एम.सी.ए. लेखन - कविता,गीत,ग़ज़ल,हाइकु, मुक्तक आदि My personal blog visit This link hindisahityalok.blogspot.com

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

जब वो चलती है

देख उसे सूरज छुप जाता है, सावन घिर-घिर आता है, राहों के फूल [...]

तुम प्रीत की छाँव हो

तुम हँसी सौगात हो, फूलों की बरसात हो l तुम दिन रात हो, मेरी [...]

परिणय बंधन

विवाह अक्षत पवित्र बंधन है ,मन आत्मा ह्रदय का मिलन है l एक पथ [...]

*तुम चन्द्रमुखी*

चन्द्रसुशोभित हे प्रिय तेरा मुख मन्ड़ल मनवां कुन्दन मधुबन [...]

*नारी राष्ट्रशक्ति*

नारी राष्ट्रशक्ति किरणमयी, गरिमा,संस्कृति,निधि औ' सुचिता [...]

“जग स्तंभ सृष्टि है बिटिया “

यहाँ अजन्मी मर जाती है, क्यों माँ कि कोख पर बिटिया| देवी का [...]

कुछ दोहे

(1) दर्शन करने श्याम का,चल वृन्दावन धाम ! जग का पालन हार वो , जप [...]

हँसी आज दिल पे /ग़ज़ल

बहर 122 / 122 / 122 / 122 हँसी आज दिल पे लुटाने चला हूँ उसे राज दिल का [...]

बेटियाँ

बेटियाँ ही तो अनमोल दौलत बेटियाँ है मधुबाला, मधुकली चहक-महक [...]

बोलो हरे कृष्णा

बोलो हरे कृष्णा, बोलो हरे मुरारी बोलो हरे कृष्णा, बोलो कुंज [...]

बरसे श्याम बदरिया

चम-चम चमके गड़-गड़ गरजे बिजुरिया सावन आया बरसे श्याम बदरिया [...]

जुदा होके तुमसे //गीत//

जुदा हो के तुमसे तन्हा जी न पायेंगे तेरे ही दिल को सनम हम घर [...]

मेरी प्यारी बहन

फूलों सी मुस्कान है,विमल हिया है तू श्वेत शीतल तू चंचल रिया [...]

होश में आओं उठो जागो

देश की हालातों पर कुछ पंक्तिया ! अच्छा लगे तो शेयर करे ! जहा [...]

“तुम कब आओगे” //ग़ज़ल//

बहर 2222 2222 222 हम रोतें बैठे है तेरी यादों में तड़प रहें है [...]

हिंद का अवतार है हिंदी

हिंद की पुकार है हिंदी हिंद का सिंगार है हिंदी हिंद की [...]

कौन जिम्मेदार है ? //कविता

देश में व्यापत पग-पग में समस्याओं के लिए कौन जिम्मेदार है ? [...]

हम कौन है ? //कविता

सवाल तो आज खुद से करना है हम कौन है ? क्या है ? और यहाँ किसलिए [...]

समय ने कहाँ // कविता

इंसान ने समय से पूछा, कब ठहरोगे तुम ? समय ने कहाँ ! मैं [...]

वो दिन लड़कपन के

प्रतिबिम्ब सा मन पटल में वो दिन लड़कपन के रमणीय है स्वर्निम [...]

मेहनत ही भाग्य विधाता है / कविता

कुछ कर दिखाने को ठानो तो सही, यहाँ मेहनत ही भाग्य विधाता है [...]

गाँव की है धानी सी धरा//गीत

गाँव की है धानी सी धरा अमिट यहाँ कुदरत की माया देख मन- मयूरा [...]

और कितनी निर्भया ?

निर्भया जिन्दा है भारत की आवाज़ बनके वो चिखती कह रही है [...]

चेहरा नूरानी बातें हैं रुहानी // गीत

तू है प्रितिका, तू है चाँदनी निशा चंचल मन,हिरनी चाल,निराली [...]

ऐसी रचना हो

जिसे पढ़कर मन कुंदन हो, अटुट बंधन हो, सारा जीवन धन्य हो, ऐसी [...]

🌸 पहेली है ज़िंदगी🌸 कविता

ये ज़िंदगी अविराम है ! बहती नदी, समय की घड़ी अनंत की ओर [...]

अपने ही करम से //गीतिका//

अपने ही करम से इंसान है तंग यहाँ जीवन खेल है,जीवन है जंग [...]

✍✍आया है बसंत मेला✍✍

कू-कू करती कोयल बगीचे में, फैला रही है बसंत की संदेशा भौरे भी [...]

🌸🌸मुक्तक🌸🌸 माँ का प्यार ही

🌸🌸मुक्तक🌸🌸 माँ का प्यार ही इस संसार का पहला प्यार है माँ [...]

मैं तेरा चाँद हूँ 🌙🌙गीत

मैं तेरा पतंग हूँ, तू मेरी डोर है मैं तेरा चाँद हूँ,तू मेरी [...]