साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: दिनेश एल० "जैहिंद"

दिनेश एल०
Posts 96
Total Views 1,326
मैं (दिनेश एल० "जैहिंद") ग्राम- जैथर, डाक - मशरक, जिला- छपरा (बिहार) का निवासी हूँ | मेरी शिक्षा-दीक्षा पश्चिम बंगाल में हुई है | विद्यार्थी-जीवन से ही साहित्य में रूचि होने के कारण आगे चलकर साहित्य-लेखन काे अपने जीवन का अंग बना लिया और निरंतर कुछ न कुछ लिखते रहने की एक आदत-सी बन गई | फिर इस तरह से लेखन का एक लम्बा कारवाँ गुजर चुका है | लगभग १० वर्षों तक बतौर गीतकार फिल्मों मे भी संघर्ष कर चुका,,

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

कृष्ण ! तुम कहाँ हो ?

लघुकथा: कृष्ण ! तुम कहाँ हो ? ##दिनेश एल० "जैहिंद" सर्व विदित [...]

सूना सूना-सा झूला

सूना सूना-सा झूला // दिनेश एल० "जैहिंद" एक तो चाँदनी रात और उस [...]

विशेष : राष्ट्र – ध्वज

राष्ट्र-ध्वज // दिनेश एल० "जैहिंद" राष्ट्रीय छबि तिरंगा देश [...]

…. दीवानापन छोड़ जाऊँगा !

दीवानापन छोड़ जाऊँगा ! // दिनेश एल० "जैहिंद" भरत-सा अपनापन [...]

….. मोम-सा वो पिघलता ही रहा !

मोम-सा वो पिघलता ही रहा ! // दिनेश एल० "जैहिंद" हाल-ए-जिंदगी पर [...]

कुम्हार और मिट्टी

कुम्हार और मिट्टी #दिनेश एल० "जैहिंद" चकित चाक पे चिकनी [...]

…….प्रलय सुनिश्चित है !

...प्रलय सुनिश्चित है #दिनेश एल० “जैहिंद” चेत नारी चेत अब [...]

ग़ज़ल : इस तरहा छाए न होते !

इस तरहा छाए ना होते ! आप जो मुझको इतना.. भाए न होते । आप.. मेरे [...]

ग़ज़ल : बच… के चली आया करो !

बच... के चली आया करो ! 223 223 223 223 आने का मन न हो फिर भी मेरी [...]

ग़ज़ल : दिल में आता कभी-कभी

दिल में आता कभी-कभी जग न भाता कभी-कभी । दिल में आता कभी-कभी [...]

ग़ज़ल : …… हादसा हो जाने दो ।

...... हादसा हो जाने दो । आज कोई गजब हादसा हो जाने दो ।। दो दिलों [...]

……. झूठ मुआ रह गया !

..... झूठ मुआ रह गया ! बीत गया अच्छा वक्त बुरा रह गया, चली गयी [...]

मेंहदी : मुक्तक

मेंहदी // दिनेश एल० "जैहिंद" मैं कभी जंगलों में गुमसुम सोई थी [...]

स्कूली जीवन

स्कूली जीवन // दिनेश एल० "जैहिंद" है कुछ गहरा रिश्ता हमारे [...]

गहना : मुक्तक

गहना // दिनेश एल० "जैहिंद" एक गहना आपका एक गहना शर्मो लाज का [...]

मेघ,,,, कुछ हाइकु

₹जैहिंद के हाइकु सुनाई नानी कल रात कहानी बरखा रानी । मेघ [...]

परिंदों की भाषा

परिंदों की भाषा // दिनेश एल० " जैहिंद" देख परिंदे दुश्मन [...]

सावन के झूले

सावन के झूले // दिनेश एल० "जैहिंद" आओ सखियों ! झूला झूलें, पेंग [...]

लघुकथा : पर्दे की ओट

पर्दे की #ओट // दिनेश एल० "जैहिंद" ( #सोपान परिवार द्वारा दैनिक [...]

लघुकथा : ग्रहण

ग्रहण // दिनेश एल० "जैहिंद" “मम्मी.... ! मम्मी !! मम्मी !!!” विवेक [...]

+++ जल +++

+++ जल +++ ये है एच० टू० ओ० सदा फुलटू पीओ रहो नीरोग । ////////////////// जल [...]

### नारी, तुम शक्ति हो !

### नारी, तुम शक्ति हो ! युग बीते, अंधकार छँटे, अज्ञानता हटी [...]

*** हे दीप देव !!!

हे दीप देव !!! हे दीप देव ! मन- मलिनता चूर करो ।। अज्ञान रूपी [...]

## प्रेम ##

((( प्रेम ))) ईश से प्रेम है सांसारिक मुक्ति किताबी बातें [...]

### मेरा कवि मन कहता है……

#### मेरा कवि मन कहता है.... @ दिनेश एल० "जैहिंद" किसी मजलूम की [...]

(((( नालंदा ))))

((( नालंदा ))) विश्व प्रसिद्ध पुरातन विश्वविद्यालय, चहुदिश [...]

[[[[ माँ की तस्वीर ]]]]

👆माँ की तस्वीर 🎆दिनेश एल० "जैहिंद" एक सात वर्षीय [...]

** मगरूर **🌠

🌠मगरूर🌠 कुछ लोग दुनिया में होते मगरूर । दौलत के नशे में वे [...]

⛅ हमारी रंगीन दुनिया ☔

⛅ हमारी रंगीन दुनिया ☔ 🎆दिनेश एल० “जैहिंद” श्वेत बादलों [...]

🚴 वो माँ को ढूढ़ता रहा 🚀

🚴 वो माँ को ढूढ़ता रहा 🚀 🎆दिनेश एल० “जैहिंद” वो पत्थरों [...]