साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: दिनेश एल० "जैहिंद"

दिनेश एल०
Posts 57
Total Views 439
मैं (दिनेश एल० "जैहिंद") ग्राम- जैथर, डाक - मशरक, जिला- छपरा (बिहार) का निवासी हूँ | मेरी शिक्षा-दीक्षा पश्चिम बंगाल में हुई है | विद्यार्थी-जीवन से ही साहित्य में रूचि होने के कारण आगे चलकर साहित्य-लेखन काे अपने जीवन का अंग बना लिया और निरंतर कुछ न कुछ लिखते रहने की एक आदत-सी बन गई | फिर इस तरह से लेखन का एक लम्बा कारवाँ गुजर चुका है | लगभग १० वर्षों तक बतौर गीतकार फिल्मों मे भी संघर्ष कर चुका,,

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

दहेज एक राक्षस

लघुकथा : दहेज एक राक्षस दिनेश एल० "जैहिंद" [...]

शांति की ओर……

यादों के झरोखे से ------- शांति की ओर मैं कभी मग़रूरी नहीं हुआ, [...]

सच और झूठ

सच और झूठ #दिनेश एल० "जैहिंद" पीछे छूट गई सच बचा रह गया अब [...]

ये कैसी बेबसी

ये कैसी बेबसी / दिनेश एल० "जैहिंद" कितने बेबस आज हुए वो जो [...]

*** संस्मरण ***

संस्मरण / दिनेश एल० "जैहिंद" हम दो भाई हैं, मैं ज्येष्ठ हूँ । [...]

नारी-मन

###नारी-मन मेरे नारी-मन की अनवरत प्रगति हो । कुछ ऐसे ही अविरल [...]

मोरे घनश्याम

मोरे घनश्याम दरश दिखा के प्यास जगा के कुछ क्षण मोरे संग [...]

मेरा बचपन

मेरा बचपन ----- काश कोई मेरा ऐसा बचपन लौटा देता-- भूख लगी है [...]

एक अधुरा ख्वाब

एक अधुरा ख्वाब न कर तंग ये मच्छरो मान जा मुझे सोने दे कम से [...]

गुल और भौरे

गुल और भौरे कलियाँ खिला करती थीं कभी भौरों के लिए ! अब ये [...]

कल की किशोरी आज की नारी

कल की किशोरी आज की नारी मैं हूँ बच्ची, कल की किशोरी, भविष्य [...]

रखो कर्म में आस्था

रखो कर्म में आस्था (आ० कवि श्री दीपक शुक्ला जी की चार [...]

नमन वीर शहीदों को

* नमन वीर शहीद को * है धरती पर कई देश जवानो,, देशों में एक देश [...]

अकेले – अकेले

(((( अकेले-अकेले )))) हम हैं, अकेले ही सही, हम अकेले चले ये जग [...]

सफर

((( सफ़र )))) ( १ ) गतिमान है रवि की परिक्रमा, बुलंद है सहस्त्र [...]

खामोशी

((( ख़ामोशी )))) दिखता काला अहित कहीं !! ये ख़ामोशी कुछ ठीक नहीं [...]

हाय री बिटिया

कविता --- शादी के जोड़े का फंदा बनाकर एक बेटी मर जाती है फाँसी [...]

गजल / मद में नहीं…..

गजल / दिनेश एल० "जैहिंद" मद में नहीं आनंद तो सादगी में है [...]

एक सूनी रात

((( एक सूनी रात ))) एक सूनी रात में बीच सडक पर इस कुंवारे दिल [...]

हाइकु

मेरे सात हाइकु ( १ ) मानसिकता दर्शाती उदारता हुआ विकास ! ( २ [...]

==== भेद – भाव ====

कविता -- [[[[भेद-भाव]]]] भेद-भाव की दुर्भावना को ना कभी मन में [...]

**** वसंत ऋतु ****

[[[[ वसंत ]]]] बसंती रीतु में बसंती साड़ी पहन करके, आई बसंती नार [...]

**** नारी और जीवन ****

[[[[ नारी और जीवन ]]]] फूलों का बिछावन नहीं ज़िंदगी,, चैन का [...]

@@@ रंग @@@

[[[[ रंग ]]]] वाह ! रंग भी क्या शब्द है, क्या भाव है, क्या अर्थ है [...]

***** रेगिस्तानी काँरवा *****

(((( रेगिस्तानी काँरवा )))) कितना विषम है मानव-जीवन, है यह जीवन [...]

+++ नारी की गति +++

नारी की गति---- समय की गति को अब जान लीं हैं नारियाँ | स्वीकार [...]

+++ गीत/बेवफा +++

गीत --- [[[बेवफ़ा]]] जी करता है जी भर कोसूँ ,, मैं अब तो उस कुदरत को [...]

(((( गणतंत्र ))))

[[[ गणतंत्र ]]] डा० भीम राव अाम्बेडकर रचयिता भारती-संविधान के [...]

### मुक्तक ###

कुछ मुक्तक ---- (१) भले आगाज़ ऐसा है, मगर अंज़ाम अच्छा हो | जो [...]

**** नववर्ष ****

[[[ नववर्ष ]]]] दिन तीन सौ छियासठ बिताकर,, मैं शैन:शैन: द्वार तेरे [...]