साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Dayal yogi

Dayal yogi
Posts 7
Total Views 30

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

….फिर चले आओ पिता………

रात फिर काली है आज भय भगा जाओ पिता छाती पर अपनी लिटाकर फिर [...]

सुबहा की ताज़गी जैसी

सुबहा की ताज़गी जैसी ये संदल याद है तेरी चाँदनी रात सी [...]

” माँ ” जब मुझको डराती है….

सताती है रुलाती है तो बस तू याद आती है कोई चिन्ता जलाती है तो [...]

“” ……तुम नहीं आये…””

तुम नहीं आये.... चाँद सितारे सारे आये तुम नहीं आये तन्हा दिल [...]

” तुझे भुला कर देख लिया है… “

तू ही तू साँसों का धागा, आजमा कर देख लिया है....! बिखर चुके हैं [...]

ये “माँ” लफ्ज़ है सबसे प्यारा ज़मीं पर…..

चमकता हुआ इक सितारा ज़मीं पर यही ढूबतों का सहारा ज़मीं [...]

” शहीद की बिटिया “

जमाने से मुझको नहीं कोई मतलब तुम्ही मेरी दुनियाँ चले आओ [...]