साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: CM Sharma

CM Sharma
Posts 17
Total Views 2,060
उठे जो भाव अंतस में समझने की कोशिश करता हूँ... लिखता हूँ कही मन की पर औरों की भी सुनता हूँ.....

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

निशाँ ढूंढते हैं…..

लोग मेरी ज़िन्दगी का निगेहबाँ ढूंढते हैं... अफसानों में मेरे [...]

तमाशा…..

तालियों की गड़गड़ाहट हो रही थी… सब खड़े हो के ताली बजा रहे [...]

छन्न पकैया ……

छन्न पकैया छन्न पकैया, बसंत राजा आये... बगिया में फूल खिले हैं, [...]

गधों का मता…..

यह राजनीति भी कैसी राजनीति है.... बिना सर पैर सरपट भागती [...]

क्यूँ रंग बिखरा देख दिल सफाई देता है…

धुंआ धुंआ सा ये शहर दिखाई देता है..... हरेक शख्स ही जिस्म की [...]

सबसे बड़े दानी….

सितारे उसकी मांग में आ सजे थे सारे... नूरे माहताब की बलाएं ले [...]

ज़ख्म मेरे तू मुझे आज दिखाता क्या है….

ज़ख्म मेरे तू मुझे आज दिखाता क्या है.... दास्ताँ मेरी मुझे ही तू [...]

मुर्दे की पहचान….

ज़िंदा रहा होगा इंसान कभी… जिसकी लाश काँधे पे उठा शमशान जा [...]

हे सरस्वती माँ मेरी…..

हे सरस्वती करुणामयी अनुकंपा करो माँ मेरी.... ओज भरी मधुर हो [...]

अभिनय…….

बचपन में परियों की कहानी सुनते थे... जब भी बच्चे को सुलाते [...]

मेरी ज़िन्दगी पे जैसे बहार छा रही है….

मेरी ज़िन्दगी पे जैसे बहार छा रही है.... रूह मेरी में वो आके अपना [...]

वंदे मातरम ….

हो हरियाली,शान्ति,खुशहाली का संगम हर ओर… हर मन नाचे, झूमें, [...]

भोर की किरण……

बीत गया जो उसे बीत जाने दे.... दिल दुखाये जो बात उसे भूल जाने [...]

तस्वीर….

तस्वीर बनायी है इक मैंने... कुछ आढी तिरछी रेखाओं से... उलझी सी [...]

दर्द….

मैं सरिता कल कल करती...मेरी पीड न जाने कोई... जो भी आता मैल ही [...]

भारत माँ की शान हो तुम… …बेटियां…..

बेटी आँगन का फूल हो तुम... जीवन स्वर में संगीत हो तुम... मेरी [...]

हर बात तुम्हारी अच्छी है

मैं तुम से बेहतर लिखता हूँ.. पर भाव तुम्हारे अच्छे हैं मैं [...]