साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: aparna thapliyal

aparna thapliyal
Posts 8
Total Views 41

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

“मेरे लिए”

ज़िदगी नें कुछ यूँ साथ निभाया है मेरी किस्मत देख कर सूरज [...]

“मुक्ति”

किसी के प्यार का मोती हूँ किसी के नेत्रों की ज्योति हूँ नज़र [...]

“सरफरोश दीवाने”

सर फरोशी की तमन्ना ले कर दीवाने चल पड़े थे मादरे वतन को [...]

” नीला”

नीले का है विस्तार वृहद समझेगा कोई क्या ? अनहद! अम्बर [...]

वो थकी आँखें

शून्य में निहारती वो थकी आँखें ज्यों ढूँढती हों समय के साथ [...]

“कोलाहल या हलाहल”

यह कोलाहल कैसा है बिल्कुल हलाहल जैसा है पिघला सीसा सा [...]

ओस

पत्तों पर ठहरी ओस की बूँदें नाजुक हल्की सी हवा से [...]

_” आतंकवाद से त्रस्त मन की पुकार “

मुझे नई सुबह की तलाशहै रात के अँधेरे में आग के घेरे में जल [...]