साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Anurag Dixit

Anurag Dixit
Posts 44
Total Views 190
मेरा जन्म फर्रुखाबाद के कमालगंज ब्लॉक के ग्राम कंझाना में एक साधारण ब्राह्मण परिवार में हुआ,मैंने वनस्पति विज्ञानं में एमएससी,ऍम.ए. समाजशाह्स्त्र एवं एडवरटाइजिंग पब्लिक रिलेशन में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा किया,व जन स्वास्थ्य में,परास्नातक डिप्लोमा किया, विभिन्न पत्रिकाओं में प्रकाशन एवं अभिव्यंजना साहित्यिक संस्था की आजीवन सदस्य्ता आपके सहयोग एवं सुझाव का आकांक्षी ! अनुराग दीक्षित

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

शब्द नाद हैं शब्द ब्रह्म हैं, शब्द गीत स्वर धारा हैं !

शब्द नाद हैं शब्द ब्रह्म हैं, शब्द गीत स्वर धारा हैं ! शब्द [...]

शब्द होते हैं अति अनमोल, इन्हें तू सोच समझ कर बोल !

शब्द होते हैं अति अनमोल, इन्हें तू सोच समझ कर बोल ! शब्द हैं [...]

मेरा हो हर अरमान तुम्हीं !

मेरा हो हर अरमान तुम्हीं ! तुम्हीं हो दुनियां तुम्हीं हो [...]

तुम मन मेरा बहलाओ रे !

तुम मन मेरा बहलाओ रे ! मैं हूँ आज अधीर प्रिये, तुम मन मेरा [...]

विद्या बुद्धि देहु मातु शारदे नमन करूँ, वाणी तन मन में शक्ति मातु भर दे!

विद्या बुद्धि देहु मातु शारदे नमन करूँ, वाणी तन मन में शक्ति [...]

आँखें हृदय का द्वार हैं, संवेदना संचार हैं!

आँखें आँखें हृदय का द्वार हैं, संवेदना संचार हैं! महसूस करती [...]

साथी साथ सुहाना तेरा जीवन बगिया महकाए ।

साथी साथ सुहाना तेरा जीवन बगिया महकाए । हर मुश्किल आसान [...]

नव जागरण उद्घोष,शंख नाद हो हिंदी !

नव जागरण उद्घोष,शंख नाद हो हिंदी ! जन-जन को जोड़ती हुई,बढ़ती जो [...]

आदत भी है बलाय रे भैया, आदत भी है बलाय ।

आदत भी है बलाय रे भैया, आदत भी है बलाय। खेल-खेल मे शौक-शौक [...]

आए कोई पास मेरे, अपना बनाने आए !

आए कोई पास मेरे, अपना बनाने आए ! खोलकर अपनी उनीदी पलकें, अपने [...]

तुमको ढूँढूं मैं कहाँ अरे, तुम सारी दुनिया से हो परे!

तुमको ढूँढूं मैं कहाँ अरे, तुम सारी दुनिया से हो परे! फूलों [...]

नियति माग॔ मे पग पग पर है ठोकर लाती, कर्मवीर का धैर्य मगर है कहाँ डिगाती ।

नियति माग॔ मे पग पग पर है ठोकर लाती, कर्मवीर का धैर्य मगर है [...]

नव वर्ष सन्देश !!

नव वर्ष सन्देश !! नया वर्ष कहता है प्रतिपल, नया कार्य कर [...]

नारी अबला नहीं अपितु वह ही तो है बल दाता !

नारी अबला नहीं अपितु वह ही तो है बल दाता ! वह ही माता वही [...]

मृत्यु शाश्वत सत्य !

मृत्यु शाश्वत सत्य ! माया भ्रम से मनुज मृत्यु को कहाँ याद [...]

स्वार्थ जीवन का गूढ़ विधान,

स्वार्थ जीवन का गूढ़ विधान, समझना जिसे नहीं आसान ! स्वार्थ वश [...]

पक्का

पक्का साबरमती एक्सप्रेस छुक छुक करती हुई अपनी गति से चली जा [...]

मेरे प्यारे भारत देश जो पूछे कोई तेरा वेश !

मेरे प्यारे भारत देश जो पूछे कोई तेरा वेश ! कहीं विस्तृत [...]

चीटी के प्रति !

चीटी के प्रति ! ढो रही है तू कितना भार, ला रही है अपना आहार, अरे [...]

प्रभु अनुपम सुमन खिला दो !

प्रभु अनुपम सुमन खिला दो ! मेरे उजड़े उपवन में प्रभु अनुपम [...]

मन में जो शीतलता भर दे वो नव गीत कहाँ से लाऊँ!

मन में जो शीतलता भर दे वो नव गीत कहाँ से लाऊँ, खुद्दारी, फितरत [...]

शिक्षा

शिक्षा शिक्षा से बुद्धि का विकास होता है, शिक्षा से ज्ञान [...]

फिर ख्याल आए तेरा तो मैं क्या करूँ !

फिर ख्याल आए तेरा तो मैं क्या करूँ ! हमने चाहा यही हम न चाहें [...]

प्रेम का दीप, नेह का पुष्प

प्रेम का दीप, नेह का पुष्प कब जलेगा कब खिलेगा ह्रदय में हे [...]

ज़िंदगी जब तुझे नज़दीक से देखा मैंने !

ज़िंदगी जब तुझे नज़दीक से देखा मैंने ! एक धुंधली सी तस्वीर नज़र [...]

दिल कहे चलो चलें उस ओर !

दिल कहे चलो चलें उस ओर ! जहाँ प्रीत का न हो कोई छोर, बरसे प्रेम [...]

दर्द का मारा होगा गीत !

दर्द का मारा होगा गीत ! बिछुड़ जब जाये किसी का मीत, दर्द का [...]

तुम प्रीत मेरी बिल्कुल ऐसी !

तुम प्रीत मेरी बिल्कुल ऐसी ! तुम मेरे सच्चे गीतों सी तुम [...]

याद तुम्हारी आएगी !

याद तुम्हारी आएगी ! जब जल से भरकर नभ में सावन की घटा छाएगी, जब [...]

बस तुम्हारे लिए !

बस तुम्हारे लिए ! बस तुम्हारे लिए, फूल खिलता है क्यों, दिन [...]