साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: amber srivastava

amber srivastava
Posts 4
Total Views 304

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

एक अंजानी,अपनी सी

है नहीं वो कोई मेरा,अक्सर देखूं एक मासूम चेहरा, कह न सकूंगा [...]

निस्वार्थ प्रेम

अब तक तो कभी हुई ना मुझे,दुआ है की मोहब्बत हो जाये, जज़्बात [...]

आस

बेशुमार नाकामियों के बाद,जब कामयाबी का सूरज जगमगाता [...]

                ऐ ज़िन्दगी  

                ऐ ज़िन्दगी   देखे तेरे कई नज़ारे, साथ तेरे कई पल है [...]