साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: अजय '' बनारसी ''

अजय '' बनारसी ''
Posts 12
Total Views 187
अजयप्रकाश सा. शुक्ला , निवास : मुंबई , महाराष्ट्र पैत्रिक निवास : भदोही , उ. प्र. शिक्षा : डिप्लोमा सिविल इंजीनियरिंग रूचि : समाज सेवा , कविता लेखन

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

वन्दे मातरम

सावन का अंधा हूँ हर ओर हरा नज़र आएगा, माँ से प्यार करता [...]

पत्नी का पिता

अनुभव पाया मैंने मेरे अंतर्मन के कहने में ये कैसी अनुभूति [...]

प्रकृति और विकृति

ईश्वर ने सृष्टि का निर्माण किया है और नाना प्रकार के [...]

पाकीज़ा मोहब्बत

लिख कर खत तूने,कहीँ तो छुपाया होगा सपनो में ही सही,मुझे अपना [...]

पाकीज़ा मोहब्बत

लिख कर खत तूने,कहीँ तो छुपाया होगा सपनो में ही सही,मुझे अपना [...]

असर

नफरतो के असर दिखाई दे रहे है हर तरफ कहर दिखाई दे रहे है [...]

दीवार

प्यार के गारे को लेकर सद्भावना के ईंट से मै दीवार बनाता हूँ [...]

बेटियाँ देश की

मिला कंधे से कंधा कुंठित धारणाओ को तोड़ कंटक भरे राह को कर [...]

भारतीयता

मानता हूँ इन्सान कमियों का पुतला है अपने विचार से किसी को [...]

आदमी

बीत गए वो लम्हे अतीत के पन्नो पर कुछ छाप छोड़ गए कुछ मीठी [...]

पत्थर

गाँव से गुजरने वाले रास्ते का पत्थर जो दिखने में है सिर्फ [...]

गरीबी

जिस तरह शाख से टूटकर पेड़ की पाती समय के साथ सूख जाती है नाव [...]