साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Neeru Mohan

Neeru Mohan
Posts 105
Total Views 7,082
व्यवस्थापक- अस्तित्व जन्मतिथि- १-०८-१९७३ शिक्षा - एम ए - हिंदी एम ए - राजनीति शास्त्र बी एड - हिंदी , सामाजिक विज्ञान एम फिल - हिंदी साहित्य कार्य - शिक्षिका , लेखिका friends you can read my all poems on my blog (साहित्य सिंधु -गद्य / पद्य संग्रह) myneerumohan.blogspot.com Mail Id- neerumohan6@gmail.com mohanjitender22@gmail.com

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

दिपावली ## खुशियों की क्यारी

दीपों का जगमग त्योहार दीपज्योत्स्ना करें प्रकाश मावस के [...]

***यह कैसी शिक्षा***

विषय - नई शिक्षा नीति नीति चाहे नई हो या पुरानी उसका [...]

वर्तमान शिक्षा प्रणाली और बच्चे

* नैतिक मूल्य रह गए है कम शिक्षा का अंत * भावी पीढ़ी [...]

****मैं और मेरे पापा****

माँ का प्यार कैसा होता है । पापा के सीने से लगकर ही यह जाना है [...]

सरल सुगम हिंदी व्याकरण (जानने योग्य बातें – ई और यी, ए और ये ,एँ और यें)

करते है हिंदी लिखने में अकसर ये गलती क्योंकि नहीं है ज्ञान [...]

***अनुभव***

* कहते हैं एक चिंगारी या तो आग लगाती है या प्रकाश फैलाती है । [...]

**नवरात्रि शुभ फलदायी**

विषय- नवरात्रि /नौ देवियाँ रचनाकार -नीरू मोहन विद्या - तांका [...]

**आज भी तुझको याद करता हूँ**

****गज़ल**** आज भी तुझको याद करता हूँ हर घड़ी इंतजार करता [...]

***खोजता स्वअस्तित्व अपना***

विषय- खोज/तलाश रेंगा काव्य शैली 5+7+5+7+7+5+7+5+7+7----- * माँ दरबार [...]

* खोजता आज स्वअस्तित्व अपना *

विषय- खोज/तलाश रेंगा काव्य शैली 5+7+5+7+7+5+7+5+7+7----- * माँ दरबार [...]

**आज भी तुझको याद करता हूँ**

****गज़ल**** आज भी तुझको याद करता हूँ हर घड़ी इंतजार करता [...]

हमने गुरबत में भी दम साँसो में छिपा रखा था ।

गज़ल हमने गुरबत में भी दम साँसो में छिपा रखा था । कतरे-कतरे [...]

यूँ तो जिंदगी से मुझे शिकवे भी शिकायत भी

यूँ तो जिंदगी से मुझे शिकवे भी शिकायत भी जाने किस मोड़ पे मिल [...]

***** अनुभव *****

* कहते हैं एक चिंगारी या तो आग लगाती है या प्रकाश फैलाती है । [...]

***मेरी आवाज़ सुनो***

जापानी काव्य शैली(तांका) 5+7+5+7+7+5+7+5+7+7---- ***मेरी आवाज़ सुनो*** वहशी [...]

मुझे इंसाफ चाहिए (एक माँ की पुकार)

* लोरी सुनाकर सुलाया था जिसको, प्रभात के आते ही जगाया था [...]

***गुरु बिन ज्ञान नहीं***

**रोज की तरह अध्यापिका कक्षा में प्रवेश करती हैं सभी बच्चों [...]

**बहू हमारी ‘गृह लक्ष्मी’**

* रोशन की बाबुल अँगनाई, उषा सी प्रभात तुम लाईं, कलरव गीत [...]

** ‘हिंदी की आत्म कथा’ **

*उठ कर गिरी हूँ, गिरकर उठी हूँ, यही संघर्ष मेरा, अभी भी निरत [...]

**आजाओ माखनचोर एक बार फिर जग में**

** सभी देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस और जन्माष्टमी की [...]

‘कि’ और ‘की’ का प्रयोग सुगम सरल हिंदी व्याकरण

*** अध्यापिका हूँ बच्चों की परेशानी भांप जाती हूँ | कहाँ [...]

**झंडा ऊँचा रहे हमारा**

जिसकी मिट्टी की खुशबू भी चंदन के जैसी लगती है ।। जिसकी [...]

**भारत की शान ‘तिरंगा’**

जय हिंद ! भारत माता की जय ! ****** तिरंगा मान भारत का सम्मान शीश [...]

**जय हिंद,जय भारत**

उन वीरों को शत-शत नमन जिनके बलिदानों की खातिर आज हम स्वतंत्र [...]

**प्रतिभा पलायन** क्यों ? ज़रा सोचिए !

*देश के हित को सोच कर ही हम सब को आगे बढ़ना है| प्रतिभा पलायन [...]

***समय है ‘अनमोल’ ****

**समय का जानो मोल , है यह बहुत अनमोल, हाथ नहीं फिर आएगा, एक बार [...]

अब और नहीं यह ‘भ्रष्टाचार’ रोको इसे , मत फलने दो |

आचार भ्रष्ट, व्यवहार भ्रष्ट भ्रष्ट सर्वस्व, भ्रष्ट आचरण [...]

**मील का पत्थर**

*पहुँचाकर मंजिल पर राही को अभी भी वहीं खड़ा हूँ | *धूल से [...]

चंद्रज्योत्ना-सी आभा लिए **एकता**

*खिलती हुई कली के जैसी उगती हुई सुबह के जैसी चंद्रज्योत्सना [...]

***बारिश की बूंदे***

*काले घने फूस से बादल, घिर-घिर कर जब आएँ| मन हर्षित हो जाए, जब [...]