साहित्यपीडिया पर अपनी रचनाएं प्रकाशित करने के लिए यहाँ रजिस्टर करें- Register
अगर रजिस्टर कर चुके हैं तो यहाँ लोगिन करें- Login

Author: Neeru Mohan

Neeru Mohan
Posts 49
Total Views 1,967
व्यवस्थापक- अस्तित्व जन्मतिथि- १-०८-१९७३ शिक्षा - एम ए - हिंदी एम ए - राजनीति शास्त्र बी एड - हिंदी , सामाजिक विज्ञान एम फिल - हिंदी साहित्य कार्य - शिक्षिका , लेखिका

विधाएं

गीतगज़ल/गीतिकाकवितामुक्तककुण्डलियाकहानीलघु कथालेखदोहेशेरकव्वालीतेवरीहाइकुअन्य

* बेटी अब पिया के द्वार चली*

बाबुल की गलियाँ छोड़ के आज बेटी अब पिया के द्वार चली मयके की [...]

*सुहानी बसंत ऋतु आई रे*

*अनंत, असीम, आलौकिक आनंद लिए अनोखी छटा छाई है | आई-रे-आई बसंती [...]

*एक प्रश्न आपके लिए* 1 मई, साल के एक दिन या हर दिन

1 मई हम मजदूर दिवस के रूप में मनाते हैं| क्यों हम एक ही दिन [...]

*भावनाओं का समंदर ‘हाइकु’के अंदर*

१. जिंदगी छोटी सुहानी अलबेली भरो उमंग २. रवि किरण छूटी [...]

*अपनी संस्कृति को पहचानो* जागो ! हिंदुओं जागो !

*अप्रैल फूल कहने से पहले वास्तविकता इसकी क्यों नहीं जान रहे [...]

***भारत देश के वासी हो तुम; इस मिट्टी पर अभिमान करो**

*भारत माँ के लाल हो तुम इस माता का सम्मान करो तीन रंग का मान [...]

*** आओ मनाएँ भारतीय नव वर्ष ****

*चैत्र, वैशाख, जेष्ठ,आषाढ़ है सुना किसी ने इनका नाम नहीं सुना [...]

**दूर रहकर भी तुम नज़दीक हो मेरे**यादों में हर पल हो तुम मेरे

*** रूठे हो तुम जो मुझसे कैसे तुम्हें मैं मनाऊँ सोच रही हूँ मैं [...]

**रंगों का त्योहार मंगलमय बनाएँगे—- बड़ों का आशीर्वाद आज सभी हम पाएँगे ||||||

*फागुन का यह मास है रंगों का त्योहार है और मिठास का एहसास है [...]

***कान्हा के संग होली** मनाए राधा भोली***

*मारे भर भर भर पिचकारी ओ मेरे नंदलाली चुनर मोरी लाल हुई *तू [...]

*****होली के रंग***** मंगल मिलन के संग**

१. होली त्यौहार है मंगल मिलन का वैमस्य त्यज सुखद अनुभव [...]

****नारी ईश्वर की सर्वश्रेष्ठ रचना*****

****----****----**** १. ***नारी दे ,नारी को मान तभी बनेगा वंश विशाल [...]

**दुख-सुख की सिर्फ एक ही साथी** नर नहीं है वो है सिर्फ नारी

** दुख सुख में जो साथ है देती और नहीं कोई, नारी है मुश्किल से [...]

**मेरी कलम से सुनो ! लोकतंत्र का हाल***

**कलम की ताकत को मैं आज , समक्ष तुम्हारे लाया हूँ | कितना अब तक [...]

**दर्द जो कोई कहता नहीं **सिर्फ सहता**

*माँ के न होने का दर्द एेसा होता है जो कोई कहता नहीं है सिर्फ [...]

***सात फेरों के सातों वचन ***अटूट बंधन***

<<<<> *नहीं पूर्ण जिसके बिना मानव जीवन संपूर्ण वैदिक [...]

****नहीं भूलेंगे **नहीं भूलेंगे** ये सुनहरे पल****

***नहीं भूलेंगे ****नहीं भूलेंगे ****यह सुनहरे दिन**** ** सुबह जल्दी [...]

****ज्ञान के सागर से भर लो गागर****

* गागर 'मस्तिष्क' है कहलाता,* ***'हिंदी व्याकरण'*** **ज्ञान का सागर [...]

*****मैं हूँ एक ‘सुंदर’ सुमन****

**कलम चली है आज जो अब लिखने को किया अनुरोध किसी ने कुछ लिखने [...]

*****मैं हूँ मात्रिक छंद*** दोहा*****

**काव्य का है छंद कहलाता , मात्राओं पर आधारित गुण दर्शाता [...]

****नीरू के दोहे**** रस की अनुभूति***

१. ****नीरू वाणी बाल की , ****सुन मिठास भर जाए | ****ज्ञान की ज्योति [...]

*** सफलता का राज़***स्वम का स्वम पर विश्वास******

*ऊँचाइयों को छूना आसान नहीं होता मझधारों को पार करके किनारों [...]

****दिन है परीक्षा परिणाम का**** बच्चों के साल भर के प्रयास का****

****परीक्षा परिणाम का दिन जब आता है | *****बच्चों का मन एकदम सहम [...]

***नारी है ***कमजोर नहीं तू ***

***अबला जीवन तेरी यही कहानी*** *******आँचल में है [...]

****वैलेंटाइन डे****होता है क्या??????? शायद एक भ्रम

वैलेंटाइन डे का अर्थ आज तक न मुझे समझ आया है | व्यर्थ के दिनों [...]

“नए समाज की ओर”** काव्यात्मक लघु नाटिका

पात्र- माँ , बेटी , पिता और सूत्रधार ************************** *** सूत्रधार - आज [...]

*****ज़रा सोचिए????? रोटी का सत्य***

क्या कहें हम किसी से , ये छोटी सी बात | सबने यही कहा कि रोटी [...]

****उड़ान***( एक काव्यात्मक कथा)

मैं उस देश की बेटी जिसमें जन्मी सीता और सती | मुझको मत कमजोर [...]

**** ‘सीख’ होती है अनमोल*****

*पंछी से सीखा है मैंने ऊँचें उड़ना चहचहाना | *सूरज से सीखा है [...]

******पर्दे के पीछे का सच*****

***किसी ने क्या खूब कहा है*** *******कोशिश करने वालों की कभी हार [...]